CM जयराम ने दी करोड़ों की सौगातें, कोटखाई उत्सव को जिला स्तरीय दर्जा

hids hids

न्यूजघाट टीम। कोटखाई। शिमला
राज्य सरकार प्रदेश की पर्यटन क्षमता का पूर्ण दोहन करके हिमाचल प्रदेश को विश्व का पसन्दीदा पर्यटन गंतव्य बनाने के लिए वचनबद्ध है। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर आज शिमला जिले के कोटखाई में ‘कोटखाई उत्सव’ के समापन समारोह के अवसर पर सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मेले व त्यौहार हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के अभिन्न अंग हैं और हमें अपनी संस्कृति पर गर्व होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि विपक्ष के कुछ नेता राज्य की संस्कृति और परम्पराओं के प्रति उनके स्नेह और सम्मान को पचा नहीं पा रहे हैं, जो संस्कृति और रीति-रिवाजों को लेकर उनकी अज्ञानता को दर्शाता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सप्ताह में तीन दिनों के लिए शिमला से चण्डीगढ़ तथा वापिस हैली टैक्सी सेवा प्रदान करने के लिए राज्य सरकार का हैलीकॉप्टर उपलब्ध करवाया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश सैलानियों की सुविधा के लिए राज्य सरकार का हैलीकॉप्टर प्रदान करने वाला देश का पहला राज्य है। उन्होंने कहा कि सरकार सैलानियों की सुविधा के लिए राज्य के अन्य भागों के लिए भी हैली टैक्सी सेवा शुरू करने के प्रयास कर रही है। जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने वर्तमान पांच महीनों के कार्यकाल के दौरान राज्य के लोगों की आपेक्षाओं पर खरा उतरने के लिए कड़ी मेहनत की है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने अनेक कल्याणकारी तथा विकासात्मक योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की दरियादिली के कारण पांच माह के छोटे से कार्यकाल के दौरान केन्द्र सरकार से 4365 करोड़ रुपये की परियोजनाएं तथा योजनाएं स्वीकृत करवाने में सफलता हासिल की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की पूर्व सरकार राज्य के लिए एक मात्र विकास परियोजना की स्वीकृति तक करवाने में असफल रही।

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने प्रत्येक कालेज के लिए मात्र एक लाख रुपये के प्रावधान के साथ 16 महाविद्यालय खोलने की घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने कहा कि पेयजल आपूर्ति योजनाओं के लिए ब्रिक्स के अन्तर्गत विधानसभा क्षेत्र की 27 पंचायतों के लिए 55 करोड़ रुपये की परियोजनाएं तैयार की गई हैं। उन्होंने हाटकोटी मन्दिर परिसर के सौन्दर्यीकरण के लिए 5 करोड़ रुपये की घोषणा की। उन्होंने कोटखाई के लिए लोक निर्माण विभाग का मण्डल, कोटखाई के लिए महाविद्यालय, कोटखाई विकास भवन के लिए एक करोड़ रुपये, सरस्वती नगर महाविद्यालय में चार विषयों में स्नातकोत्तर कक्षाएं आरम्भ करने, अटल बिहारी वाजपेयी इंजीनियरिंग कालेज प्रगति नगर में पाठ्यक्रम बढ़ाने, सरस्वती नगर में मल निकासी योजना के लिए 4 करोड़ रुपये तथा नावर क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति में सुधार के लिए 2.11 करोड़ रुपये की घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने कोटखाई उत्सव को जिला स्तरीय दर्जा प्रदान करने की घोषणा की। जय राम ठाकुर ने कहा कि उन्होंने सुनिश्चित बनाया है कि विकास के मामले में राज्य के प्रत्येक क्षेत्र को इसका वाजिब हिस्सा मिले। उन्होंने कहा कि इस छोटी सी अवधि के दौरान उन्होंने क्षेत्रों के विकास के लिए 45 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा कर लिया है। उन्होंने कहा कि देश को प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी का मिलना वरदान है, क्योंकि भारत ‘विश्व नेता’ के रूप में उभर रहा है।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने सरस्वती नगर के मौजूदा खेल मैदान में अन्य सम्बद्ध कार्यों सहित 400 मीटर सिंथेटिक ट्रैक की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि टै्रक का निर्माण 12.50 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा तथा धर्मशाला और बिलासपुर के बाद राज्य का यह तीसरा िंसंथेटिक ट्रैक होगा। उन्होंने कहा कि यह ट्रैक क्षेत्र के युवाओं को विश्व स्तर की खेल सुविधाएं प्रदान करेगा। मुख्यमंत्री ने खड्डा पत्थर स्थित गिरी गंगा रिसार्ट में 77 लाख रुपये की लागत से निर्मित पर्यटन स्वागत केन्द्र एवं टै्रकिंग होस्टल तथा पार्किंग का लोकार्पण किया। इस परिसर में तीन डब्बल बैड रूम, 200 लोगों की क्षमता का बैंकट हॉल, पर्यटन सूचना कार्यालय इत्यादि हैं। उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्र में पर्यटन विकास को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में पर्यटन की आपार संभावना है और राज्य सरकार इसके दोहन के लिए वचनबद्ध है। जय राम ठाकुर ने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मण्डल जुब्बल के अन्तर्गत 6.28 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना दरकोटी-गवारग का ‘भूमि पूजन’ किया। इस योजना से क्षेत्र की 4 पंचायतों के 21 गावों को सिंचाई सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। उन्होंने 2.53 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले बस अड्डा कोटखाई का भूमि पूजन किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सोराब तथा गौरव गांगटा को सम्मानित किया।

इसके उपरान्त, मुख्यमंत्री ने प्रगति नगर में 9.88 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले श्री अटल बिहारी वाजपेयी राजकीय इंजीनियरिंग एवं तकनीकी संस्थान के सभागार की आधारशिला रखी। उन्होंने 4.26 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले महिला छात्रावास भवन तथा संस्थान में 7.04 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले ग्रामीण आजीविका एवं उत्पादन केन्द्र की भी आधारशिलाएं रखीं। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री व उनकी धर्मपत्नी डा. साधना ठाकुर ने हाटकोटी स्थित प्रसिद्ध श्री हाटेश्वरी मन्दिर में पूजा अर्चना की। मुख्यमंत्री का सरस्वती नगर पहुंचने तथा कोटखाई व प्रगति नगर के बीच विभिन्न स्थानों पर लोगों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। क्षेत्र के विभिन्न सांस्कृतिक, सामाजिक तथा राजनीतिक संगठनों ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री का अभिनन्दन किया।

hids

Leave A Reply

Your email address will not be published.