ये है सिरमौर के हाल, जारी है मौत का सफर, जिंदगियों से सीधा खिलवाड़

धड़ल्ले से चलाए जा रहे लोडिड वाहन

hids hids

राकेश नंदन। नाहन
सिरमौर जिला के कई इलाकों में मौत का सफर लगातार जारी है। यहाँ धड़ल्ले से ओवरलोडीड वाहन चलाए जा रहे हैं। पर प्रशासन कोई कड़ी कार्रवाई करने के लिए तैयार नही है। यह रिपोर्ट देखिए कि किस तरह से यहां लोगों की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। यह तस्वीरें सिरमौर जिला के विभिन्न इलाकों की है। तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि किस तरह से लोग बसों व गाड़ियों की छतों पर सफर कर रहे हैं।

बदहाल सड़कों पर धड़ल्ले से यह ओवरलोडिंग गाड़ियां चल रही है। मगर इनके खिलाफ कोई कड़ी कार्रवाई अमल में नहीं लाई जाती है। यहीं कारण है कि आए दिन बड़े बड़े हादसे हो रहे है। हालांकि जिला उपायुक्त कह रहे हैं कि कड़ी कार्रवाई के आदेश पुलिस व परिवहन विभाग को दिए गए है।यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाने में सरकारी बसें भी पीछे नहीं है। तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि किस तरीके से सरकारी बसों में स्कूलों के छात्रों द्वारा सफर करवाया जा रहा है। ओवरलोडिंग की ये तस्वीरें क्षेत्र में आए दिन पेश आती है।

क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी सुनील शर्मा का कहना है कि समय-समय पर इनके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाती है और कई बसों के परमिट रद्द भी किए जाते है। वाहन चलाते समय कई चालक मोबाइल पर बात करते तस्वीरों में साफ देखी जा सकते हैं, क्योंकि यह इस बात से बेखौफ है कि यहां कोई कारवाई करने वाला नहीं है। गिरिपार क्षेत्र की अगर बात करें तो यहाँ सालाना सैकड़ों लोग सड़क हादसों में अपनी जान गवांते है और प्रशासन सिर्फ हादसों के वक्त ही जागता है।

कुल मिलाकर कई मर्तबा तर्क दिया जाता है कि बसों की उचित सुविधा ना होने के कारण लोग बसों की छतों पर सफर करने को मजबूर है, तो सवाल इस बात पर होता है कि आखिर क्यों यहां शासन प्रशासन द्वारा बसों की वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की जाती है। आखिर कब तक लोगों की जान के साथ खिलवाड़ होता रहेगा और हादसों में लोगों की जाने जाती रहेंगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.