- Advertisement -

चंडीगढ़ जोन का जोनल लेवल समागम राजगढ़ में हुआ

पवन तोमर। राजगढ़
सतगुरू माता संविदर हरदेव महाराज की कृपा से राजगढ़ में चंडीगढ़ जोन के जोनल स्तर समागम का आयोजन किया गया। इस समागम में चंडीगढ़ जोन की 38 ब्रांचों से लगभग 5000 महात्मा पहुंचे। इस समागम में पठानकोट से आए प्रचारक केन्द्रीय प्रचारक जी0 के0 द्विवेदी ने कहा कि सन्त निरंकारी मिशन कोई प्रचलित धर्म या सप्रदाय नहीं है बल्कि एक आध्यात्मिक विचारधारा है। आज सन्त निरंकारी मिशन कारी करवाकर विश्व बन्धुत्व की स्थापना कर रहा है। उन्होंने पुरातन पीर पैग बरों का उदाहरण देते हुए कहा कि बिना सत्गुरू के भक्ति स भव नहीं होती। सन्त निरंकारी मिशन इस तथ्य पर जोर देता है कि जब तक हमें ब्रहम की पहचान नहीं हो जाती तब तक हमें धर्म की परिभाषा सही अर्थो में समझ नहीं आती और जब इंसान धर्म को समझ जाता है तो वह चुभने वाले तथ्यों को अपनी और रखकर दूसरों को सुख देने का ही प्रयास करता है।

hids

उन्होने आगे कहा कि आधुनिक समय में नैतिकता में आई गिरावट पर बोलते हुए कहा कि आज सबसे पहले मानव को अपने मूल रूप की पहचान करने की जरूरत है ताकि वह समझ सके कि यह समस्त संसार एक फूलों की क्यारी की तरह है जिसमें शामिल विभिन्न तरह के फूल अलग-अलग धारणाओं को प्रदर्शित करते है पर वास्तविकता में एक ही परिवार का अंग है। सतगुरु की कृपा से ही ईश्वरीय ज्ञान होने के बाद जाति, वर्ण, धर्म के भेदभाव मिट जाते हैं और आपस में प्रेम, शांति और एकत्व का रूप बनता है। यह तभी सभव होता है जब हमें यह एहसास हो जाता है कि हम सब एक ही परमपिता परमात्मा की संतान हैं इसी एहसास से सबकी सेवा करते है। परमात्मा का आधार और सतगुरु के प्रति समर्पण ही सहजता का मूल होता है सहजता से जीवन सकून वाला हो जाता है।

समागम में अनेक वक्ताओं ने विभिन्न भाषाओं में अपने भक्ति भरे भाव व्यक्त करते हुए भजन सामूहिक गीत कविता विचार एवं पहाड़ी गीत द्वारा सन्त निरंकारी मिशन व सतगुरु के संदेश को प्रसारित किया। इस मौके पर के के कश्यप जोनल इंचार्ज संत निरंकारी मंडल चंडीगढ़ जोन ने जी0 के0 द्विवेदी जी और शिमला संसदिये क्षेत्र के सांसद वीरेंद्र कश्यप ,पच्छाद विधायक सुरेश कश्यप , पूर्व योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष जी आर मुसाफिर ,प्रताप ठाकुर , ,सुनील शर्मा ,विवेक शर्मा ,दिनेश आर्य,अनिल शर्मा ,अमर तोमर ,कमल शर्मा व ब्रांचों से आए हुए संयोजक मुखी महात्माओं व सर्व साधसंगत का धन्यवाद किया करते हुए कहा कि इस प्रकार के समागम करने का एक ही उद्वेश्य है समाज में मिलवर्तन प्यार सहनशीलता व भाईचारा स्थापित हो सके।

इससे पूर्व राजगढ़ के संयोजक भोलानाथ साहनी ने जी के द्विवेदी जोनल इंचार्ज के0 के0 कश्यप चंडीगढ़ और उपस्थित पतवंते सज्जनों प्रबन्धको व प्रशासन का धन्यवाद करते हुए सतगुरू माता सविंदर हरदेव जी के प्रति आभार व्यक्त किया | समागम के दोरान श्र्दालुयो के लिय सुबह से ही लंगर का आयोजन किया गया था |

hids

Leave A Reply

Your email address will not be published.