Teachers Day Special : असफलता पीछे हट, यहां बैठा है हरिदत्त

एस कंवर। पांवटा साहिब असफलता पूरी तरह से पीछे हटा जा, क्योंकि यहां हर जख्म के बाद शेर-ए-दिल हरिदत्त बैठा है, जो असफलता को अपने आसपास भी भटकने नहीं देगा। जीं हां 5 सितंबर यानी अध्यापक दिवस पर हम आज अपने पाठकों को एक ऐसे ही अध्यापक से रूबरू करवाने जा रहे हैं, जिनसे असफलता को अपने आसपास भी भटकने नहीं दिया। बल्कि जिंदगी में मिले जख्मों से यह साबित किया कि हरिदत्त वह मर्द है, जो हर जख्म के बाद शेर बन जाता है। मुसाफिर है हम, हमारा रहनुमा…

Read More