हिमाचल निर्माता के बेटे कुश परमार से मिले समाजसेवी एडवोकेट दिनेश चौहान, खास थी वजह

न्यूजघाट टीम। नाहन
नाहन में हिमाचल निर्माता स्व. डा. यशवंत सिंह परमार के पुत्र व 5 बार विधायक रहे कुश परमार व उनकी पुत्रवधु पूर्व चैयरमैन हिमाचल सरकार सत्या परमार से समाजसेवी व चंडीगढ़ हाईकार्ट के वकील दिनेश चौहान, सोशल वर्कर सुनील चौहान व चंडीगढ़ सिरमौर एसोसिएशन के सदस्य राकेश ठाकुर उनके निवास स्थान नाहन में मिले और उनसे वाईएस परमार के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी ली। बता दें कि हाल ही में दिनेश चैहान के नेतृत्व में 10 लोगांे की टीम वाईएस परमार के पैतृक गांव चनलाग गए थी।

    इसी सिलसिले में आज कुश परमार ने नाहन में स्पेशल मिलने बुलाया और उनसे वाईएस परमार के बारे में कुछ जानकारियां हासिल की। समाजसेवी दिनेश का कहना है कि हम चाहते है कि जिस प्रकार और राज्यो में के इतिहास में जिस शख्स का जो योगदान अपने राज्य के लिए है उसका एक पाठ स्कूल में बच्चों को पढ़ाया जाता है। उसी प्रकार पूरे हिमाचल में भी वाईएस परमार का एक पाठ स्कूल में पढ़ाया जाए, ताकि बच्चांे को पता लगे कि वाईएस परमार कौन थे। उनका हिमाचल में क्या योगदान था। आज हिमाचल ही नहीं सिरमौर के 60 प्रतिशत लोग वाईएस परमार के बारे में नहीं जानते। उनके योगदान के बारे में नही जानते। इसलिए हम चाहते है कि सरकारी स्कूल हो या प्राइवेट सभी में हिमाचल बनाने व संवारने में योगदान देने वाले का एक पाठ पढ़ाया जाए।

negi
chauhan

    सिरमौर एसोशिएशन ने 21 जनवरी को एक बैठक समाजसेवी दिनेश के नेतृत्व चंडीगढ़ में रखी गई है। दिनेश चैहान ने बताया कि आने वाले समय में इस बार बूढ़ी दिवाली भी वाईएस परमार की याद में चंड़ीगढ़ में बड़ी धूमधाम से मनाई जाएगी। ये पहले मौका होगा जो गिरिपार छोड़कर दूसरांे राज्यो में भी मनाई जाएगी, जिसमें गिरिपार के कल्चर को बताया जाएगा और पहाड़ी गायकों को बुलाया जाएगा। पूर्व विधायक ने हमें हर समय हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।

Facebook Comments
vishal-garments

Related posts