भरी सर्दी में भी आईपीएच का ये हाल, यहां किलटो में ग्रामीण ढो रहे पानी

बीके शर्मा। कुल्लू
उपमंडल बंजार की ग्राम पंचायत कोटला के गांव लोल, फागुर, सदाला, भूट, दली, भाटबांई व धारा के ग्रामीण पानी की बूंद-बूंद के लिए तरस रहे हैं। इन गांवों के नलों में पानी नहीं आ रहा है। बारिश व बर्फबारी न होने से प्राकृतिक स्रोत भी सूख चुके हैं। कोटला क्षेत्र के लोगों को अपनी पेयजल की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए किलटों में बर्तन डाल कर कई किलोमीटर पैदल जाकर पानी लाना पड़ रहा है। यह पानी भी अपर्याप्त होता है। उन्हें अपने पशुओं के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है।

      पूर्व उपप्रधान ग्राम पंचायत कोटला भीमसेन नेगी, लीला मणि, नीरत सिंह, हीरा मणि,वेदराम वार्ड पंच, महेंद्र सिंह, नीरत राम, लोत राम, पूने सिंह, यशवंत सिंह, ठाकुर सिंह, गोकुल चंद, इंद्र सिंह व जय सिंह का कहना है कि क्षेत्र में पानी के भंडारण टैंक का निर्माण किया गया है, लेकिन वहां पर केवल एक वाटर गार्ड ही तैनात है। जिस फिटर को वहां लगाया गया था उसे कहीं अन्यत्र भेज दिया गया है। उसकी जगह किसी अन्य को नियुक्त नहीं किया गया है। इन लोगों का कहना है कि उन्होंने आइपीएच विभाग बंजार के सहायक अभियंता को फोन पर क्षेत्र की इस समस्या के बारे में कई बार बताया है, लेकिन विभाग ने आज तक इस समस्या के निवारण के लिए कोई उचित कदम नहीं उठाया है। इन लोगों का कहना है कि अगर विभाग ने शीघ्र क्षेत्र में पानी की समस्या का हल नहीं किया तो वे खाली बर्तन लेकर विभाग के कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।

पानी की कमी तो है लेकिन विभाग गांव में पानी के वितरण को सही कर समस्या के निदान में गांव वासियों का पूरा सहयोग कर रहा है। क्षेत्र में पानी के वितरण में हो रही दिक्कत को देखने के लिए अधिकारी गांवों में भेजा जाएगा। -एमएस धामी सहायक अभियंता आइपीएच बंजार।

negi
chauhan
Facebook Comments

Related posts