सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षित नहीं रहा सतौन, तेजी से पैर पसार रहा अपराध

संजय कंवर। पांवटा साहिब
एशिया की सबसे बडी चूना पत्थर मंडी सतौन में रोजी रोटी की तलाश में पहुंचे प्रवासी मजदूरों के लिऐ अब यह इलाका सुरक्षित नहीं है। बीते दशक मे अपराध ने इस इलाके में तेजी से पांव पसारे है। सतौन क्षेत्र में दशकों से हत्या, चोरी, नशे के मामले बडी तेजी से बडे है। पिछले आंकड़ों के अनुसार 1995 में सतौन के गिरीनदी में दो लोगों की हत्या हुई थी, 2003 में सतौन में रात को घर पर एक महिला की गला रेत कर हत्या की गई थी। पुलिस जांच में यह हत्या लूट के मामले में हुई थी।

vishal-garments
  • Email : info@brazatyres.com | brazatyres@gmail.com Office : 8894339123 | Mobile : 9816022546

      2015 में सतौन के पास सिरमौरीताल खड्ड में सतौन के नेत्र व शिलाई की बबली के शव बरामद हुये थे। लेकिन अभी तक पुलिस के लिये यह पहली बनीं हुई है। 2016 में सतौन बस स्टैंड के पास मानल के रामेश्वर के सिर पर एक व्यक्ति ने वार किया गया था जिसके बाद रामेश्वर की पीजीआई में दम तोड़ दिया था। अभी हाल ही में 25 नवंबर को पुरुवाला की लापता लड़की का शव सतौन के पास चिलोन के गहरी खाई से पुलिस ने शव बरामद किया था। जिसमें बाद में पुलिस जांच में हत्या का मामला सामने आया है। सतौन पंचायत ऐशिया की सबसे बडी चूना पत्थर मंडी है। यहां पर बाहरी राज्यों के सैकड़ों मजदूर काम करते है।

      क्षेत्र में हुई वारदातों के बाद क्षेत्र के लोगों ने सतौन में पुलिस चौकी खोलने की मांग उठाई थी। लेकिन अभी तक यह मांग ठंडे बस्ते में है। सतौन महिला मंडल अध्यक्ष रेणु नेगी, राधा चौधरी, सतौन पंचायत के उप प्रधान रामेश्वर शर्मा, नवयुवक मंडल अध्यक्ष विशाल चौहान, वीरेंद्र शर्मा, प्रेम तोमर आदि ने बताया की सतौन क्षेत्र में हत्या, चोरी व नशे के मामले बडी तेजी से बड रहे है। इन घटनाओं से क्षेत्र के लोग बडे चिंतित है।


eFashini

Facebook Comments

Related posts