117 साल बाद बड़ोग में टनल खोदकर फिर दोहराया जा रहा इतिहास, सोलन के पर्यटन को लगेंगे पंख

न्यूजघाट टीम। सोलन
सोलन के बड़ोग में टनल का संबंध बहुत पुरान है। एक अंग्रेजी इंजीनियर बड़ोगने सन 1900 में यहां से रेलवे के लिए टनल निकालने का प्रयास कियाथा। टनल को खोदने का काम पहाड़ों के दोनों ओर से किया गया था, लेकिन उनके मुहाने एक दूसरे से नहीं मिले और वह प्र्रयास असफल रहा था। इसलिए इंजीनियर बड़ोग ने शर्मिंदा होकर आत्महत्या कर ली थी। आज इस स्टेशन को बड़ोग के नाम से जाना जाता है।

vishal-garments

    अब करीब 117 साल बाद फिर से टनल को बड़ोग स्टेशन के करीब से फोरलेन निर्माण के लिए खोदा जा रहा है। सोलन फोरलेन निर्माण के तहत सोलन से कुम्हारहट्टी को टनल से जोड़ा जा रहा है। इस टनल की लंबाई करीबन 900 मीटर है। बड़ोग रेलवे स्टेशन के समीप से इस टनल की खुदाई का काम पिछले एक वर्ष से चल रहा है और सूत्रों की माने तो अब यह टनल करीबन 45 दिनों में बन कर तैयार हो जाएगी।

    सोलन के लोग इस टनल को लेकर काफी उत्साहित और खुश नजर आ रहे है। माना जा रहा है कि इस टनल के निर्माण से सोलन की खूबसूरती को चार चांद लगेंगे और पर्यटन को भी बढावा मिलेगा।

Facebook Comments

Related posts