लाॅकअप में आरोपी सूरज की हत्या मामले में जल्द होगा बड़ा खुलासा, अब ऐसे सुराग तलाशेगी CBI

वीएस पाठक। शिमला
गुड़िया रेप और मर्डर मामले में सीबीआई की ओर से आईजी जहूर एच जैदी और डीएसपी मनोज जोशी सहित सभी आठ पुलिस कर्मियों के वॉयस सैंपल लेने की अर्जी पर अब सुनवाई 17 नवंबर को होगी। सीजेएम रणजीत सिंह की कोर्ट ने सीबीआई की अर्जी पर बुधवार को सुनवाई करते हुए बहस के लिए 17 नवंबर की तिथि निर्धारित की है। वहीं मामले में सीबीआई की टीम महासू और बानकुफर पहुंची। सीबीआई की टीम ने वहां फिर से कुछ लोगों से पूछताछ की है। सीबीआई की विशेष टीम ने कुछ साक्ष्य मिलने के बाद यह पूछताछ का सिलसिला शुरू किया है।

    गौरतलब है की न्यायिक हिरासत चल रहे आईजी समेत 8 पुलिस अधिकारी व कर्मचारी को जमानत के लिए बीते 8 नवंबर जिला अदालत में पेश किया गया था जहा से उन्हें 15 नम्बर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया था और वॉइस सैम्पल लेने को कहा था लेकिन अब इस मामले में सुनवाई 17 नंबर को होगी। सीबीआई ने कोटखाई थाने में आरोपी सूरज हत्या मामले में आईजी समेत एसआईटी के आठ अफसर व कर्मचारी गिरफ्तार किए गए थे।

    सभी पुलिसकर्मियों के खिलाफ अभी तक सीबीआई चालान पेश नहीं कर पाई है। 29 नवबंर को 90 दिन पूरे होने से पहले हर हाल में चालान पेश करना होगा। अगर सीबीआई ऐसा न कर पाई तो आरोपी पुलिसकर्मियों को जमानत मिल सकती है।

Facebook Comments
vishal-garments

Related posts