कमजोर हो रहा पांवटा साहिब का दिल, एक साल में इतने लोगों की हार्ट अटैक से मौत

अशोक बहुता। पांवटा साहिब
अगर आप गरीब हैं और दिल के मरीज है तो यह खबर आपके लिए है । पांवटा साहिब में पिछली सर्दियों में दिल के दौरों से दो दर्जन से अधिक मौतें हुई थी। यह मौंते सुविधाओं के आभाव व समय पर सही इलाज नहीं मिलने से हुई थी। पांवटा साहिब में चार मंजिला अस्पताल पर अकसर सभी सरकारें इसे बनाने का अधिकार जताती आई है, लेकिन अगर सुविधाओं की बात की जाए तो आज भी यहाँ मूलभूत सुविधाओं की किल्लत है। पिछली सर्दियों में दो दर्जन से अधिक मौतें दिल के दौरों से यहा हुई थी जिनको अस्पताल तो लाया गया लेकिन सुविधाओं और ज्ञानता के आभाव में बचाया नहीं जा सका । केवल वार्ड नम्बर 9 में ही 4 लोगों को अपनी अक्समात जान गवानी पड़ी थी ।

कैसे करें बचाव एमडी फिजिशियन डा. एसके राघव की जुबानी 
पांवटा साहिब में दिल के रोगी सावधान हो जाए क्यों की इस वर्ष भी सर्द रातें शुरू हो गई है। इस बारे में सिविल अस्पताल में इकलौते एमडी डाक्टर एसके राघव ने बताया की सर्दियों में दिल के मरीजों को सावधानी बरतनी चाहिए।
-ज्यादा हार्ड़ वर्क न करे जैसे ही सांस या धड़कन बढ़े तुरन्त आराम करे और डाक्टर को दिखाए ।
-ज्यादा ठंड़ से बचे गर्म कपड़ों का इस्तेमाल करें । सूबह सैर तभी करे जब मौसम थोड़ा खुल जाए स्माॅग हो तो सैर से बचें।
– ज्यादा पसीना, घबराहट, लैफ्ट हैन्ड़ में दर्द, और सबसे महत्वपूर्ण अगर दिल में हल्का दर्द हो तो यह लक्षण हार्टअटैक के है इनमें से कोई भी लक्षण होने पर तुरन्त नजदीकी अस्पताल जाए। ऐसी स्थिति में पैदल न चले घर से अस्पताल गाड़ी, एम्बूलेन्स या अन्य साधन से ले जाएँ और अस्पताल में भी व्हिलचेयर का इस्तेमाल करे।

vishal-garments

सीएमओ ने दिये निर्देश
सिरमौर के सीएमओ संजय शर्मा ने बताया की इस बार पांवटा सिविल अस्पताल में सभी डाक्टरों को एमडी डाक्टर एसके राघव ह्रदयघात को लेकर शुरूआती लेटैस्ट ट्रीटमैन्ट की ट्रेनिंग देंगे ताकि समय पर सभी डाक्टर स्थिति को समझ कर इलाज कर पाए । वही सिविल अस्पताल में ह्रदयघात की स्थिति में एमडी फिजिशियन को ऑन काॅल रखा जाएगा ।

Facebook Comments

Related posts