आज से रोहतांग दर्रा बंद, 6 महीने के लिए बाकी दुनिया से कटा लाहौल-स्पीति

रेणुका गोस्वामी। मनाली
विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रे को 15 नवम्बर से आधिकारिक रूप से वाहनों के लिए बंद कर दिया गया है। इसी को देखते हुए अटल बिहारी पर्वतारोहण संस्थान ने भी मनाली के मढ़ी और लाहौल के कोकसर में पैदल यात्रियों के लिए बचाव चौकियां स्थापित कर ली हैं। इन दोनों बचाव चौकियों में 9-9 कर्मचारियों को तैनात किया गया है।

    पर्वतारोहण संस्थान केनिदेशक रणधीर सिंह सल्हूरिया ने बताया कि बचाव दल में पर्वतारोहण संस्थान के प्रशिक्षक, पुलिस के जवान, स्वास्थ्य विभाग से पैरा मैडीकल स्टाफ, रसोइया और हैल्पर आदि तैनात किए गए हैं। बचाव चौकियों में पंजीकरण करवा ही करें रोहतांग पार रणधीर सिंह सल्हूरिया ने बताया कि बचाव चौकियां 2 चरणों में स्थापित की जाएंगी। प्रथम सत्र में 31 दिसम्बर तक बचाव चौकियां कार्य करेंगी तथा दूसरे सत्र में 15 मार्च से 15 मई, 2018 तक पैदल यात्रियों के लिए बचाव चौकियां स्थापित की जाएंगी। दोनों बचाव चौकियों में 9-9 कर्मचारियों को तैनात किया गया है। उन्होंने पैदल रोहतांग दर्रा पार करने वाले लोगों से आह्वान किया कि वे बचाव चौकियों में अपना पंजीकरण करवाकर ही रोहतांग दर्रा पार करें।

vishal-garments

     उन्होंने कहा कि जरूरत पडऩे पर तुरंत बचाव चौकियों से संपर्क करें। कोकसर व मढ़ी में बचाव चौकियां स्थापित डी.सी. लाहौल-स्पीति देवा सिंह नेगी ने बताया कि प्रशासन ने कोकसर व मढ़ी में बचाव चौकियां स्थापित कर दी हैं। बर्फ पडऩे की सूरत में बचाव दल लोगों को दर्रा पार करवाने में मदद करेगा। दर्रा आर-पार करने वाले लोगों से आग्रह है कि वे मौसम की परिस्थितियों को देख कर ही दर्रा पार करें।

Facebook Comments

Related posts