SP सौम्या की टीम को बड़ी कामयाबी : यूको बैंक से 1.03 करोड़ की करंसी चोरी का आरोपी धरा

वीएस पाठक। शिमला
युकों बैंक मालरोड से चोरी हुई पुरानी करंसी मामले में पुलिस की मेहनत रंग लाई। बैंक से चोरी हुए 1.03 करोड़ रुपए चोरी करने वाला अरोपी पुलिस ने 10 माह बाद धर दबोच डाला है। यह नार सिंह दत नामक आरोपी करसोग का रहने वाला है। पुलिस ने इससे सदर थाना शिमला पहुंचाया है। अरोपी से पूछताछ करने पर अब चोरी के कई राज खुल सकते है। फिलहाल पुलिस इससे कोर्ट में पेश करेंगी। पुलिस आरोपी से पु ता सबूत जुटी रही है। पुलिस को शक है कि इसके पिछे अन्य आरोपी भी हो सकते है। ऐसे में पुलिस आरोपी की गंभीरता से पूछताछ कर रही है।

vishal-garments

    उल्लेखनीय है कि शिमला के युको बैंक 1.03 करोड़ के पुराने नोट के गुम होने का मामला बीते जनवरी माह में सामने आया था। चोरी हुए नोट पुरानी करंसी के थे जो कि एक ट्रंक में रखे गए थे। शातिर बैंक में भीड़ का फायदा उठाते हुए ट्रंक को लेकर फरार हो गया था। हालांकि चोरी की यह घटना 26 दिसंबर को हुई थी, लेकिन इसका पता तब चला जब प्रबंधन ने पुराने नोटों की गणना शुरु की। बाद में जब बैंक की सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया तो इस एक युवक इसमें चोरी करता दिखाई दिया। शिमला की युको बैंक की मु य शाखा से चोरी हुए नोट दरअसल यूको बैंक की नैनाटिक्कर शाखा से 6 दिसंबर लाए गए थे। इनमें 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटो थे, जो कि दो ट्रंक भरे हुए थे। इन दोनों ट्रंकों में कुल मिलाकर 3 करोड़ 37 लाख 75 हजार 500 रुपए के पुराने नोट थे।

     बताया जा रहा है कि युको बैंक में आरबीआई की चेस्ट नोटों से भरी होने पर इन ट्रंकों को बैंक के अंदर दूसरी जगह रखा गया था। बाद में गणना के बाद पता चला कि दो ट्रंकों में से एक गायब है। चोरी हुए ट्रंक में 1.03 करोड़ रुपए के पुराने नोट थे। इसके बाद बवाल मच गया तो कुछ दिनों के भीतर पुराने नोटों से भरा एक बैग बैंक के साथ ही पड़ा पाया गया। इसमें करीब 68 लाख के नोट थे, लेकिन बाकी नोट नहीं मिले। इस पर पुलिस आरोपी की तलाश कर रही थी। आखिर में पुलिस ने आरोपी को पकड़ ही लिया।

बीमारी का इलाज करवाने आया था आईजीएमसी
जांच में सामने आया है कि युवक बीते दिसंबर माह में अपने परिवार के किसी बीमार सदस्य को लेकर आई.जी.एम.सी. लाया था। इस दौरान केंद्र सरकार ने नोटबंदी की थी। बताया जा रहा है कि युवक युको बैंक किसी काम से गया था और वहां उसने पुराने नोट देखे और इसको चोरी का प्लान बनाया। वह बैंक कुछ दिन आया और एक दिन उसने बैंक से इन नोटों पर हाथ साफ कर दिया।

30 लाख रिश्तेदारों को बांटे
जब बैंक से अरोपी पैसे चोरी किए थे तो 30 लाख रुपए अपने रिश्तेदारों को बांटे थे। शायद उन्होंने नोटबंदी के दौरान बदला भी दिए होंगे। अब जिन लोगों को आरोपी ने पैसे बांटे है उनसे भी शीघ्र ही पुलिस पूछताछ कर सकती है। ऐसे में आरोपी के रिश्तेदारों पर भी गाज गिर सकती है। यहीं नहीं कई शातिर इस मामले में लपेटे में आ सकते है।

  • Email : info@brazatyres.com | brazatyres@gmail.com Office : 8894339123 | Mobile : 9816022546
Facebook Comments

Related posts