hids

हिमाचल में भीषण हादसा : पूरा कस्बा और दो बसें मलबे की चपेट में, कई दर्जन लापता

नितेश सैनी। मंडी
पठानकोट-मंडी नैशनल हाईवे पर रात को एक बड़ा हादसा हो गया। एनएच पर उरला-जोगिंद्रनगर के पास कोटकरूपी में भारी भूस्खलन और पहाड़ी दरकने से यात्रियों से भरी दो बसों सहित कई अन्य वाहन मलबे में दफन हो गए। चंद सेकेंड में तबाही का जो भयानक मंजर देखने को मिला, उसे बयां करना कठिन है। घटना रात 1:00 बजे के आसपास की बताई जा रही है। इस हादसे में कई और लोगों की जान जाने की आशंका है अभी तक 6 लोगों के शव मिल चुके हैं।

vishal-garments

चाय पानी के लिए रुकी थीं कोटकरूपी में दो बसें
बताया जा रहा है कि कोटकरूपी में दो बसें रात को चाय पानी के लिए रुकी थीं। इसके अलावा कई और वाहन भी यहां पर खड़े थे। जैसे ही ऊपर से पहाड़ी दरकी दोनों बसों के अलावा वहां पर खड़े कई और वाहन भूस्खलन की चपेट में आ गए। एचआरटीसी की बसों में एक कटड़ा-मनाली रुट पर जा रही बस थी, जिसमें करीब सात यात्री सवार थे। बस के चालक ने ऊपर से मलबा आता देखा और सवारियों को भागने को कहा। वहीं चम्बा से मनाली जा रही बस में हताहतों की संख्या अधिक हो सकती है। ये बस मलबे के साथ एनएच से 1 किलोमीटर नीचे बह गई है। इस बस में 40 से 50 सवारियां होने की आशंका है।

15-aug

मंडी-कुल्लू मार्ग वाहनों के लिए पूरी तरह से बंद किया
मंडी प्रशासन की ओर से मंडी से कुल्लू तक के लिए इस एनएच को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। इसी बीच एक एक घंटे के लिए वाहन चलने की अनुमति दी जाएगी। इस मार्ग का सारा ट्रैफिक वाया कमाद- कोटला- कुल्लू कर दिया है। इसके अलावा इस मार्ग का सारा ट्रैफिक तीन रूटो जोगिंद्रनगर- घटासनी-झटींगरी- मंडी, जोगिंद्रनगर- धर्मपुर- कोटली- मंडी तथा जोगिंद्रनगर, नौली -पद्दर- मंडी कर दिया है।

सेना और एनडीआरएफ की टीमें बुलाई
सारा मंडी प्रशासन मौके पर मौजूद है। राहत व बचाव का कार्य देर रात से चल रहा है। सेना व एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर बुलाया गया है। मौके पर डीसी मंडी सहित पुलिस विभाग के आला अधिकारी मौजूद है। फिलहाल एनएच पर से मलबा हटा कर जिंदा लोगों की तलाश की जा रही है। सड़क के निकट जो वाहन दबे हुए थे, उनको निकालने की कोशिश की जा रही है। घायलों का निकटवर्ती अस्पतालों में उपचार चल रहा है।

 

Facebook Comments

Related posts