output_lYKRAR.gif

मंडी हादसा : पहाड़ के मलबे में दबी बसें, बढ़ रहा है मरने वालों का आंकड़ा

नितेश सैनी। मंडी
पठानकोट-मंडी नैशनल हाईवे-154 पर उरला-जोगिंद्रनगर के पास हुए कोटरोपी हादसे में लाशों के ढेर लग रहे हैं। हर तरफ तबाही का ही मंजर देखा जा सकता है। घटनास्थल पर लोगों की काफी भीड़ जुटी हुई है। हादसा इतना भयानक था कि बसों के परखच्चे उड़ गए। आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि यहां चंद सेकेंड में तबाही का जो भयानक मंजर देखने को मिला, उसे बयां करना कठिन है। हादसा शनिवार देर रात 1 बजे के करीब हुआ। बताया जा रहा है कि बस में करीब 40 से 50 लोग सवार थे। 14 घंटे बीत चुके हैं लेकिन अब तक लोगों का पता नहीं चल पाया है। अब मलबे में दबी जिदंगी दम तोड़ने लगी हैं।

output_cvUt6r.gif

    हादसे में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अभी तक 18 लाेगाें के शव बरामद किए जा चुकें हैं। इस हादसे में एक ही परिवार के तीन बच्चे दब गए हैं। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। मिली जानकारी के मुताबिक ये लोग छोटी गाड़ी में सवार थे। जिस समय यह हादसा हुआ वे उसी जगह से गुजर रहे थे और भूस्खलन की चपेट में आ गए। सीएम ने इन बच्चों की मां से मुलाकात की और मदद का भरोसा दिया। मरने वालों में बच्चे, बुजुर्ग और कई महिला-पुरुष भी शामिल हैं। पठानकोट-मंडी नैशनल हाईवे-154 पर उरला-जोगिंद्रनगर के पास कोटरोपी में भारी भूस्खलन से पहाड़ी दरकने से यात्रियों से भरी दो बसों सहित कई अन्य वाहन मलबे में दफन हो गए। इस हादसे में 4 घर पर चपेट में आए गए। घटना रात 1:00 बजे हुई। बताया जा रहा है कि हादसा उस समय हुआ जब कोटरोपी में दो बसें रात को चाय पानी के लिए रुकी थीं। इसके अलावा कई और वाहन भी यहां पर खड़े थे।

vishal-garments

    अचानक ही ऊपर से पहाड़ी दरकी दोनों बसों के अलावा वहां पर खड़े कई और वाहन भूस्खलन की चपेट में आ गए। एचआरटीसी की बसों में एक कटड़ा-मनाली रुट पर जा रही बस थी, जिसमें करीब सात यात्री सवार थे। बस के चालक ने ऊपर से मलबा आता देखा और सवारियों को भागने को कहा। वहीं चम्बा से मनाली जा रही बस में हताहतों की संख्या अधिक हो सकती है। ये बस मलबे के साथ एनएच से 1 किलोमीटर नीचे बह गई। वहीं जो दूसरी बस मनाली से कटड़ा जा रही थी, उसमें करीब 8 लोग सवार थे। इनमें से दो छा़त्राओं के शव बस के ऊपर गिरे। कई शव मलबे को हटाने के बाद बरामद हुए, जबकि चालक व परिचालक सहित 5 लोग पहले ही बाहर निकलने में कामयाब रहे। जिन्हें घायल हालत में अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया था।

Facebook Comments

Related posts