सोलन: जिम ट्रेनर लक्की गोलीकांड केस में पुलिस के हाथ लगा बड़ा ब्रेकथ्रू

न्यूजघाट टीम। सोलन
जिम ट्रेनर एवं विजीलेंस सोलन के मुख्य आरक्षी के बेटे लक्की की गोली मारकर हत्या के मामले में पुलिस को ब्रेक थू्र मिल गया है। लक्की हत्याकांड के आरोपियों की पहचान हो गई है। तीन आरोपियों में से एक आउटर दिल्ली व दो हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले है। आरोपियों की पहचान होने के बाद गिरफ्तारी को टीमें गठित कर दी गई हैं और टीमें आरोपियों की तलाश में विभिन्न जगहों पर दबिश देंगी। जानकारी के अनुसार पुलिस को गाड़ी, सीसीटीवी फुटेज व स्कैच के चलते यह कामयाबी हासिल हुई है। यह जानकारी एसपी सोलन मोहित चावला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए दी।

vishal-garments

     उन्होंने बताया कि वारदात के बाद मिली गाड़ी, सीसीटीवी फुटेज व स्कैच की मदद से आरोपियों की पहचान कर ली गई है। आरोपियों में हेमंत 22 निवासी आउटर दिल्ली, 22 वर्षीय नवीन व विपन सोनीपत का रहने वाला है। विपन उर्फ स्वीटी की उम्र 18 साल से कम हो सकती है। उन्होंने कहा कि वारदात के बाद से ही पुलिस ने मामले की गहन छानबीन शुरू कर दी थी। आज प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों की पहचान कर ली गई है। एसपी मोहित चावला ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी को टीमें रवाना कर दी गई हैं। आरोपी जल्द सलाखों के पीछे होंगे।

    गौरतलब है कि सोमवार रात 7 अगस्त को सोलन से पांच किलोमीटर दूर शामती के पास हरियाणा नंबर की गाड़ी सवार होकर आए तीन लोगों ने विजिलेंस सोलन में मुख्य आरक्षी के पद पर तैनात कर्म चंद के बेटे लक्की को तीन गोलियां दाग दी थीं। लक्की की मौके पर ही मौत हो गई थी। जिस समय यह हादसा हुआ, लक्की मोटरसाइकिल पर सवार होकर कहीं जा रहा था। गोली मारने के बाद गाड़ी सवार मौके से फरार हो गए थे। लक्की शामती में जिम चलाता था। वारदात के बाद से ही पुलिस मामले की जांच में जुटी थी।

  • Email : info@brazatyres.com | brazatyres@gmail.com Office : 8894339123 | Mobile : 9816022546

      दूसरी तरफ लक्की हत्याकांड में एक ओर अहम खुलासा हुआ है। लक्की के मोटरसाइकिल के साथ गाड़ी की टक्कर नहीं हुई थी, बल्कि तीनों आरोपी लक्की को मारने के इरादे से आए थे। आखिर आरोपियों ने लक्की को क्यों मारा, इसका खुलासा आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही पता चल पाएगा। पर अब तक की पुलिस जांच में यह बात तो साफ हो गई है कि तीनों आरोपियों का इरादा लक्की को मारना था। पुलिस ने यह भी खुलासा किया है कि आरोपियों की सोलन में काफी मूवमेंट थी। एसपी सोलन मोहित चावला ने बताया कि एफएसएल रिपोर्ट के मुताबिक दोनों गाड़ियों के बीच किसी भी तरह के टकराव के निशान सामने नहीं आए हैं। एसपी मोहित चावला के मुताबिक आरोपियों की काफी समय से सोलन मूवमेंट थी। इससे यह बात तो साफ हो गई है कि आरोपी लक्की का मर्डर करना चाहते थे। लेकिन, क्यों इस बात का खुलासा आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही पता चल पाएगा। पुलिस जांच में यह बात भी सामने आई है कि वारदात में जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया गया था, वह गाड़ी चोरी की है। गाड़ी चोरी होने की शिकायत मालिक ने दिल्ली के प्रशांत विहार थाने में 30 जुलाई को दर्ज करवाई है।

Facebook Comments

Related posts