NH के टोल बैरियर पर यदि 3 मिनट की हो देरी, तो नहीं देना पड़ता टोल टैक्स, RTI में खुलासा

अशोक बहुता। पांवटा साहिब
नेशनल हाइवे अथाॅरिटी आॅफ इंडिया के मुताबिक नेशनल हाइवे पर बने टोल बैरियर पर यदि आपको 3 मिनट से अधिक वाहनों की लाइनें में इंतजार करना पड़े, तो आपको टोल फीस अदा करने की जरूरत नहीं है। इसका खुलासा एक आरटीआई में हुआ है। हिमाचल-उत्तराखंड की सीमा पर चाहे गोविंदघाट बैरियर हो, बहराल बैरियर या फिर कोई भी नेशनल हाइवे पर टोल नाका, यदि आपको यहां पर तीन मिनट से अधिक समय लगता है, तो नियमों के मुताबिक आप टोल नाके पर बिना फीस निकलने के लिए पूरी तरह से स्वंतत्र है।

       इसका खुलासा लुधियाना के हरिओम जिंदल द्वारा दायर आरटीआई के जवाब में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय) में किया है। जिंदल ने आरटीआई के माध्यम से भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से यह पूछा था कि नेशनल हाइवे पर बने टोल नाकों पर खड़े वाहन चालकों को कितने समय तक लाइन में खड़े होकर अपनी पर्ची को प्राप्त करना होता है। इसके जवाब में नेशनल हाइवे अथाॅरिटी ने लिखित में बताया कि वाहन चालक को यदि तीन मिनट तक टोल नाके पर टोल टैक्स की पर्ची नहीं दी जाती, तो उसे कानून बैरियर से निशुल्क जाने देना होगा।

        यह नेशनल हाइवे अथाॅरिटी आफ इंडिया का नियम है। अब सवाल यह उठता है कि नेशनल हाइवे पर नियम व शर्तों को लागू करवाने की जिम्मेदारी किसकी है। स्थानीय पुलिस की, प्रशासन की या फिर नेशनल हाइवे अथाॅरिटी के अधिकारियों की, क्योंकि यदि हिमाचल-उत्तराखंड सीमा पर गोविंदघाट बैरियर की ही बात करें तो बैरियर पर संबंधित ठेकेदार ने कम स्टाफ रखा हुआ है। इसके कारण यहां पर हर रोज घंटों जाम में लोग फंसे रहते है। यदि फिर भी कोई होने वाली आपत्ति पर देरी करता है, तो ठेकेदार के लोग लड़ाई झगड़े पर उतर आते हैं।

vishal-garments

        दूसरी तरफ हैरानी की बात तो यह है कि कहीं पर भी टोल बैरियरों पर नेशनल हाइवे आॅफ अथाॅरिटी के इन नियमों का जिक्र तक नहीं किया गया है। लिहाजा लोगों को इस बारे अधिक जानकारी नहीं है। उधर पूछे जाने पर पांवटा साहिब के एसडीएम एचएस राणा ने कहा कि इस मामले को लेकर हाॅयर अथाॅरिटी से बातचीत की जाएगी। यदि आवश्यकता हुई, तो टोल बैरियरों पर नियमों को अंकित किया जाएगा।

Facebook Comments

Related posts