कोटखाई की गुड़ियां को इंसाफ दिलाने के लिए दाड़लाघाट में भी कैंडल मार्च

न्यूजघाट टीम। दाड़लाघाट
ग्राम पंचायत दाड़लाघाट में कोटखाई क्षेत्र में हुए जघन्य अपराध की कड़ी निंदा करते हुए दाड़लाघाट के महिला, युवा, बच्चे मोमबतियां जला व कैंडल मार्च निकाल गुड़िया को श्रद्धांजलि दी गई।कुछ दिनों पहले कोटखाई क्षेत्र में एक 16 वर्षीय युवती के साथ दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई थी।दाड़लाघाट में दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गयी व दो मिनट का मौन भी रखा।जिसमे लोगो ने राजनीति से ऊपर उठकर इस अमानवीय घटना की निंदा की।इस अवसर पर राकेश गौतम ने कहा कि इस घटना से देव भूमि हिमाचल शर्मसार हुई है।

     उन्होंने उम्मीद जताई कि अपराधी जल्द से जल्द पकडे जायेंगे व अपराधियों को उनके द्वारा किये गये इस जघन्य अपराध की कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी।वही हेमराज ने कहा कि कोटखाई में हुई घटना ने देवभूमि को शर्मसार किया है।सरकार पुलिस से मांग की कि रिमांड पर लिए गए हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के सबूत इकट्‌ठा किए जाएं।आत्मा की शांति तथा दुष्कर्मी को फांसी की सजा की मांग को लेकर सोमवार की शाम दाड़लाघाट में सामाजिक कार्यकर्ताओं,छात्र-छात्राओं,युवा तथा काफी संख्या में महिलाओं और बच्चों द्वारा कैंडल मार्च निकाला गया।सैकड़ों की संख्या में शामिल ग्रामीण,महिला एवं छात्र-छात्राएं बसस्टैंड से होते हुए स्यार तक वापिस दाड़लाघाट चौक से बसस्टैंड में मोमबत्तियां लिए गुड़िया के लिए इंसाफ मांगते दिखे।

vishal-garments

     मार्च में शामिल छात्र-छात्राओं का कहना था कि इस शर्मनाक घटना को अंजाम देने वाले दुष्कर्मी को खुलेआम फांसी दी जानी चाहिए ताकि भविष्य में ऐसी घटना फिर नहीं दुहराई जाए।लोगों ने इस अमानवीय घटना को शर्मसार मानते हुए कहा कि इस घटना के 8 दिन बाद भी असली दोषी पकड़े नही गए है ओर तो ओर हिमाचल की इस बेटी को इंसाफ देने के लिए हम सब आगे है बेशक किसी भी न्यूज़ चैनल में इस बर्बरता को दिखाया नही गया क्या हिमाचल की बेटी की कोई कीमत नही जिस से लोगों में हिमाचल सरकार के साथ साथ केंद्र सरकार से भी नाराजगी रही।

Facebook Comments

Related posts