बाबाओं में खूनी संघर्ष, एक दूसरे पर किया चाकुओं से हमला

न्यूजघाट टीम। कांगड़ा
जिला कांगड़ा के नगरोटा सूरियां में देर रात श्मशानघाट पर शराब पीकर दो बाबे आपस में लड़ पड़े। दोनों ने एक-दूसरे पर चाकुओं से हमला कर दिया। इस हादसे में मारपीट यहां तक बढ़ गई कि एक गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे प्राथमिक उपचार के बाद कांगड़ा रैफर किया गया। श्मशानघाट पर जो बाबा रहता है, उसका पुलिस के पास कोई रिकार्ड नहीं है तथा किसने बाबा को श्मशानघाट पर रखा है। इसका भी कोई पता नहीं। नरेश गिरी बाबा जो कि नगरोटा सूरियां के श्मशानघाट पिछले तीन माह से रह रहा था। गत रात को उसके पास एक बाबा रामानंद गिरि ठहरा था, जबकि एक और बाबा मिथुन आ गया।

     रात को रामानंद व मिथुन ने शराब पी, जबकि नरेश गिरी जिस मकान में रहता था। कोठे पर सोया था कि नीचे दोनों बाबा आपस में लड़ पड़े।दोनों ने एक-दूसरे पर चाकुओं से बार किए, जिससे मिथुन लहूलुहान हो गया। रामानंद को भी हाथ पर चोटें आई हैं। दोनों को स्थानीय अस्पताल लाया गया। मारपीट की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। मारपीट के दौरान इस्तेमाल किया गया चाकू भी बरामद कर लिया गया। रामानंद ने पुलिस को बयान दिया कि मिथुन ने उस पर हमला किया तथा उसने अपने बचाव के लिए उस पर हमला किया।

      मिथुन ने बताया कि वह एक नंदी बैल को लेकर गांव-गांव घूमता है तथा जो पैसे इकट्ठे होते हैं उससे परिवार को चलाता है। रात को गांव-गांव घूमकर रात को श्मशानघाट पर आ गया था। श्मशानघाट पर एक बाबा और या रात को उसने शराब पी तथा बहसबाजी शुरू कर दी। पुलिस गहराई से छानबीन कर रही है तथा श्मशानघाट पर जो बाबा रह रहा है वह हरिद्वार उत्तराखंड का रहने वाला है।

Facebook Comments

Related posts