गुड़िया रेप एंड मर्डर केस: विपक्ष ने राज्यपाल से की वीरभद्र सरकार को बर्खास्त करने की मांग

न्यूजघाट टीम। शिमला
नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती के नेतृत्व में आज विधायल दल ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में भाजपा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी विधायक दल आप का ध्यान हिमाचल प्रदेश की निरंतर बिगड़ रही कानून व्यवस्था की ओर आकर्षित करना चाहता है। हमारा मानना है कि हिमाचल प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। एक के बाद एक दिल दहलाने वाली घटनाओं ने देवभूमि को न केवल शर्मसार किया है अपितु देशभर में बदनाम कर दिया है। हत्या, बलात्कार, डकैती जैसे संगीन अपराधों में बढ़ौतरी होना और वर्तमान सरकार के हस्ताक्षेप से निर्दोष लोगों को दोषी बनाना और दोषियों को बचाने का प्रयास करना लगातार जारी है, जिसके परिणामस्वरूप जनता का विश्वास वर्तमान कांग्रेस सरकार से पूरी तरह उठ चुका है।

    भाजपा ने राज्यपाल से कहा कि महोदय शिमला का युग हत्याकांड अभी प्रदेश की जनता भूली भी नहीं थी कि जिला शिमला के कोटखाई क्षेत्र की दर्दनाक घटना जिसमें मासूम स्कूली छात्रा के साथ गैंगरेप कर निर्मम हत्या की गई, ने पूरे प्रदेश को फिर से हतप्रभ कर दिया है। इस घटना के बाद प्रदेश सरकार व पुलिस प्रशासन का व्यवहार लगातार संदेह के घेरे में चल रहा है। पुलिस प्रशासन की कार्रवाई से प्रतीत होता है कि असली दोषियों को बचाने का प्रयास किया गया है और निर्दोष लोगों को दोषी ठहराया जा रहा है। मुख्यमंत्री की फेसबुक एकाउंट में पहले दोषियों की फोटो वायरल होना और फिर उन्हें हटा लेना दर्शाता है कि प्रदेश सरकार के दवाब में पुलिस प्रशासन यह सब कर रहा है । जनता के भारी दवाब में प्रदेश सरकार ने मामले को सीबीआई को तो सौंप दिया परंतु प्रदेश सरकार के दवाब में पुलिस प्रशासन ने मामले को जिस तरह से उलझा दिया है, उसकी भारतीय जनता पार्टी कड़े शब्दों में निंदा करती है। भाजपा का कहना था कि प्रदेश में इस के अलावा जिस तरह से मंडी जिला के सिराज क्षेत्र में वन विभाग के नव-नियुक्त वन रक्षक होशियार सिंह की निर्मम हत्या करके उसके शव को पेड़ से लटका कर आत्महत्या में बदलने का प्रयास हुआ, उससे प्रदेश की लचर कानून व्यवस्था की पोल खुल गई है। जनता के भारी दवाब में हत्या का मामला दर्ज तो किया है परंतु प्रदेश सरकार वन माफिया के दवाब में जिस तरह से काम कर रही है, उससे न्याय की उम्मीद कम ही है।

     इसी तरह परवाणु की नाबालिग लड़की का गायब होना और पुलिस का उसे ढंूढने में नाकाम रहना, कुल्लु की नाबालिग लड़की से गैंगरेप व हत्या होना, सरकाघाट की मोनिका का लापता होना और संदेहास्पद परिस्थितियों में सुनीता की मौत होना व सिरमौर में विवाहिता को अगवा कर जबरदस्ती बलात्कार करने जैसी घटनाओं ने यह साबित कर दिया है कि प्रदेश में कानून का राज नहीं अपितु जंगलराज है। आम आदमी की जीना दूभर है, महिलाओं का घरों से बाहर निकलना हिमाचल जैसे शांतिप्रिय प्रदेश में सुरक्षित नहीं है। भारतीय जनता पार्टी विधायक दल इन घटनाओं की कड़ी निंदा करते हुए प्रदेश की लड़खड़ाती कानून व्यवस्था पर गहरी चिंता प्रकट करता है। भारतीय जनता पार्टी विधायक दल का मानना है कि इन परिस्थितियों में वीरभद्र सरकार का सत्ता में बने रहना प्रदेश के हित में नहीं है। इसलिए विधायक दल आप से मांग करता है कि वर्तमान प्रदेश सरकार को तुरंत बर्खास्त कर आम चुनाव करवाने की सिफारिश महामहिम राष्ट्रपति महोदय से करने की कृपा करें।

vishal-garments
Facebook Comments

Related posts