hids

बेइज्जती से परेशान युवक ने उठाया ये खौफनाक कदम, मृतक युवक ने वीडियो में बयां किया अपना दर्द

न्यूजघाट टीम। कांगड़ा
ज्वाली पुलिस स्टेशन के अंतर्गत एक युवक द्वारा खुदकुशी करने का मामला प्रकाश में आया है। अंकुश कुमार उम्र करीब 21 वर्ष पुत्र मदन लाल निवासी लुधियाड़ ने फंदा लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। घरवालों ने जब उसको फंदे से लटका देखा तो तुरंत ज्वाली अस्पताल ले आए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों द्वारा पुलिस को अपनी लिखित शिकायत में बताया गया कि 2 दिन पहले लब नामक स्थान पर एक निजी संस्थान की 4 युवतियों व 3 युवकों द्वारा अकारण ही भरे बाजार में अंकुश को पीटा गया, साथ में उसे बेइज्जत भी किया गया था, जिसे लेकर अंकुश मानसिक तौर पर परेशान हो गया। बाद में इसी परेशानी व बेइज्जती के चलते अंकुश आत्महत्या के लिए मजबूर हो गया।

      प्राप्त जानकारी के अनुसार परिजनों ने अंकुश के मोबाइल में बनी कुछ वीडियो रिकाॄडग के क्लिप भी डी.एस.पी. ज्वाली को सौंपे हैं, जो अंकुश ने आत्महत्या करने से पहले खुद अपने मोबाइल से बनाए हैं। पुख्ता जानकारी के अनुसार उस वीडियो रिकाॄडग में अंकुश ने आत्महत्या के कारणों के बारे में खुद ही बताया है। ज्वाली का अतिरिक्त भार संभाल रहे डी.एस.पी. नूरपुर नवदीप सिंह ने बताया कि अंकुश आत्महत्या केस में मामला दर्ज कर अभी तक कुल 7  लोगों जिसमें 4 युवतियां व 3 युवक हैं, पर धारा 306 के तहत मामला दर्ज कर लिया है तथा अब तक 4 युवतियों को हिरासत में भी लिया जा चुका है और अन्यों की धरपकड़ जारी है। उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वीडियो में अंकुश ने लब स्थान में हुई मारपीट के बारे में बताया है, जिसमें उसने बताया है कि मैंने किसी को नहीं छेड़ा है।

      वीडियो में उसने मारपीट के दौरान हुई पुलिस की कार्रवाई को लेकर भी असंतुष्टि प्रकट की है। उसने अपने पिता को वीडियो के माध्यम से बताया कि डैडी मैं सच्चा हूं तथा अकारण ही उन युवतियों और युवकों ने मुझे बहुत बुरी तरह पीटा है। डैडी मैं कुछ कदम उठाने लगा हूं, डैडी ठीक है, अपना ख्याल रखना, बाय। ज्वाली अस्पताल में जब डाक्टरों ने अंकुश को मृत घोषित किया तथा मौके पर पुलिस द्वारा शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाने लगा तो परिजनों सहित सैंकड़ों ग्रामीणों द्वारा शव को वहां से नहीं उठाने दिया गया। परिजनों की मांग थी कि पहले दोषियों को हिरासत में लेकर उनके सामने पेश किया जाए, बाद में शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा।

vishal-garments
15-aug

      डी.एस.पी. नवदीप सिंह द्वारा परिजनों को जब दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया, तभी परिजनों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जाने दिया। ज्वाली थाना पहुंचकर सैंकड़ों ग्रामीणों ने मृतक अंकुश के परिजनों के साथ मिलकर डी.एस.पी. नवदीप को एक ज्ञापन दिया, जिसमें इन 7 दोषियों के साथ कुछ अन्य दोषियों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की गई, जिसकी वजह से अंकुश ने आत्महत्या की।

Facebook Comments

Related posts