output_lYKRAR.gif

बुजुर्ग लेखराज हत्याकांड : संस्कारों की कमी से हत्यारा बन गया जमा दो पास यह युवक

न्यूजघाट टीम। बिलासपुर
घुमारवीं की बरठी पंचायत के कपवाड़ा गांव में एक रिटायर्ड टीचर लेखराम का मर्डर करने का आरोपी युवक असल में तथाकथित कुसंगति का शिकार रहा है। 2 कमरों के मकान में माता-पिता के साथ राहियां गांव में रहने वाले इस युवक पर अगर वक्त रहते नियंत्रण रहा होता तो वह भी एक कामयाब इंजीनियर या डॉक्टर होता। सरस्वती विद्या मंदिर से साइंस विषय 10 जमा 2 तक पढऩे के बाद यह युवक परिवार का नियंत्रण नहीं होने के कारण लगातार सिरफिरा होता चला गया।

output_cvUt6r.gif

     बेरोजगारी में यहां-वहां भटकते हुए इस युवक की दरिंदगी का आलम यह था कि वह रविवार को अपने घर में पहले पिता से झगड़ा था और पिता पर दराट से हमला करने के लिए कई बार उग्र भी हुआ लेकिन पड़ोस में ही किसी के यहां समारोह होने के कारण शोर मचते ही यह शांत हो गया। जिस टीचर को उसने सोमवार को मौत के घाट उतारा उसके साथ परिवार का रिश्ता कोई नया नहीं था बल्कि कुछ तथाकथित अज्ञात विधियों से कई प्रकार के मनोरोगों का इलाज करने वाले इस रिटायर्ड टीचर लेखराम के पास युवक के परिवार के साथ-साथ कुछ रिश्तेदारों का भी इसी काम के लिए आना-जाना लगा रहता था। युवक का लेखराम की हत्या करने का इरादा इसी बात से जगजाहिर हो रहा है कि वह दराट घर से ही लेकर गया था और जब उसे इस बात के लिए उसके गांव के लोगों ने पूछा तो उन्हें यह कह कर टाला गया कि वह पशुओं के लिए चारा काटने के लिए जा रहा है लेकिन सुबह करीब साढ़े 11 बजे उसने इस वारदात को अंजाम दे दिया। सूत्रों ने बताया कि मनु की एक रिश्तेदार कपाहड़ा गांव में है। उसके माध्यम से वह लेखराम के पास तथाकथित मनोरोग के इलाज के लिए जाया करता था। हालांकि अभी तक आधिकारिक तौर पर या वैज्ञानिक साक्ष्यों की दृष्टि से मनु के मनोरोगी होने के अभी तक कोई प्रमाण नहीं मिले हैं।

      पूरे मामले में अपने मनोरोग के इलाज नहीं करने से गुस्से में आकर लेखराम की हत्या किए जाने की बात तो आरोपी मनु ने स्वीकारी है लेकिन अभी तक हत्या के पीछे की असल वजह पुलिस जांच में सामने आने की गुंजाइश बाकी बची हुई है। मनु की हरकतों से उसके साइको किल्लर जैसा होने की पूरी संभावनाएं नजर आ रही हैं। ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि मनोज ने यह हत्या पूरी प्लानिंग से की है क्योंकि वह हत्या में इस्तेमाल दराट को घर से ही लेकर गया था जिससे बाद में उसने लेखराम की हत्या की और उसकी पत्नी फूलां की बाजू काटकर उसे नाजुक हालत में पहुंचा दिया।

vishal-garments
Facebook Comments

Related posts