महिला पंचायत प्रधान का चुनाव रद्द, शपथ पत्र में छिपाए थे कई तथ्य

न्यूजघाट टीम। ऊना
गगरेट क्षेत्र की पंचायत पिरथीपुर की प्रधान का चुनाव रद्द कर दिया गया है। चुनाव रद्द होने के साथ-साथ सुदेश कुमारी को प्रधान पद की सेवाओं से हटा दिया गया है। एसडीएम अंब की अदालत ने चुनाव याचिका का निपटारा करते हुए यह आदेश सुनाया। पिरथीपुर की निर्वाचित प्रधान सुदेश कुमारी के चुनाव के विरूद्ध 3 जनवरी 2016 को गांव की ही शीला ने हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। कोर्ट ने सुदेश को चुनाव लडऩे पर रोक लगाई थी, लेकिन सुदेश कुमारी चुनाव लड़ी और जीत गई थी। जिस पर शीला देवी ने 29 मार्च 2016 को एसडीएम अंब कोर्ट में याचिका दायर की थी।

     शीला देवी ने आरोप जड़ा था कि सुदेश ने चुनाव लडऩे के लिए दिए गए शपथ पत्र में कई तथ्यों को छुपाया है, जिनके आधार पर वह चुनाव लडऩे के लिए अमान्य साबित होती। शीला देवी ने बताया था कि सुदेश कुमारी को पंजाब के कपूरथला स्थित सेशन जज की अदालत ने एनडीपीएस एक्ट के तहत 10 साल की सला सुनाई थी। वहीं सुदेश पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट से जमानत पर चल रही हैं। शीला सिंह ने आरोप जड़ा कि इन तमात तथ्यों को छुपा कर सुदेश कुमारी ने प्रधान पद का चुनाव लड़ा था। जबकि कोर्ट से दस साल की सजा पाने वाला कोई भी व्यक्ति चुनाव लडऩे के योग्य नहीं है। अधिवक्ता दिनेश वशिष्ठ ने बताया कि एसडीएम अंब सुनील वर्मा की अदालत ने मामले की छानबीन और दस्तावेजों को ध्यान में रखते हुए सुदेश कुमारी के चुनाव को अमान्य करार दिया है।

Related posts