यहां शराब के ठेके के विरोध में महिलाओं ने ठेके के बाहर किया भजन कीर्तन

नितेश सैनी। सुंदरनगर
हिमाचल प्रदेश में शराब ठेके का विरोध लगातार जारी है और पिछले करीब 3 महीनो से महिलाएं और आम जनता शराब के ठेकों को अपने गांव और पंचायत के नजदीक खोलने का विरोध कर रही है। लेकिन प्रदेश सरकार और आबकारी कराधान विभाग लगातार शराब के ठेके खोल रहा है। मामला मंडी जिला के उपमंडल सुंदरनगर के नगर परिषद क्षेत्र के ललित नगर का है। जहा आबकारी कराधान विभाग सहित ठेकेदार ने हाई कोर्ट और कानून का उलँघन कर स्कूल और मंदिर के समीप एक निजी घर में शराब का का ठेका खोल दिया।

     ठेका खुलने की जैसे ही क्षेत्र की महिलाओं को इस की सुचना मिली तो क्षेत्र की महिलाओं ने इकठे हो कर शराब के ठेके को सिफ्ट करने को लेकर बाबत कड़ी कर दी और रोड पर चका जाम कर दिया और महिलाओं के विरोध को देखते हुए भारी पुलिस दल मौके पर पंहुचा और जनता को शांत करने की कोशिश की लेकिन फिर भी बात नहीं बनी तो महिलाओ ने पुलिस थाना प्रभारी से लिखित आश्वाशन लिया की जल्द ही प्रशासन और आबकारी कराधान विभाग से बात कर ठेके को यहाँ से हटाया जायेगा। लेकिन जब अगले दिन भी कोई नतीजा नहीं निकला तो महिलाओं ने गाँधीवादी तरीका निकाल फ़ैसला किया की जब तक यहाँ से ठेका नहीं हटेगा तब तक सभी महिलाएं शराब के ठेके के पास बैठ कर किसी को भी शराब नहीं लेने देंगीं। शुक्रवार रात महिलाओं ने ठेके के बाहर भजन कीर्तन किया।

    अब देखने की बात यह होगी की महिलाओ की इस पहल से इस क्षेत्र से शराब का ठेका हटाया जायेगा या नहीं। वही महिलाओं का कहना है की हिमाचल को पूरी जनता को यही तरीका नकालना चाहिए ताकि प्रशासन व आबकारी कराधान विभाग के अधिकारी शर्म से स्कूल, धार्मिक स्थान व नेशनल हाइवे के किनारे शराब के ठेके न खोले। अब देखना ये होगा की महिलाओं की गाँधीवादी निति काम करती है या कोई और।

Related posts

Comments are closed.