hids

CM वीरभद्र सिंह का आरकेएस की नर्सों को तोहफा, अब 3 साल में होंगी रेगुलर

वीएस पाठक। शिमला
आकेएस के तहत लगी नर्सें अनुबंध के तीन साल के सेवाकाल के बाद अब रेगुलर होंगी। नर्सों की ओर से रोगी कल्याण समिति में दी गई सेवा अवधि को अनुबंध सेवा का कार्यकाल माना जाएगा। इससे पूरे वर्ग को लाभ होगा। अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह के समापन समारोह की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने यह घोषणा की। इससे पहले नर्सों ने मुख्यमंत्री के समक्ष यह मांग उठाई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य संस्थानों की सफलता में नर्सों की अहम भूमिका है तथा उनके परिश्रम और लग्न से जहां मरीजांे को उचित देखभाल मिलती है। वहीं संस्थान की विश्वसनीयता भी बढ़ती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में 6 मेडिकल कॉलेज आंरभ होने से पूरे राज्य में स्वास्थ्य सेवाएं सुदृढ़ होगी और चिकित्सकों की कमी को पूरी तरह दूर कर लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने नर्सिग एसोसिएशन को सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए 50 हजार रुपए देने की घोषणा भी की।

vishal-garments

फाइब्रो स्कैन मशीन का उद्घाटन
इससे पहले मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आईजीएमसी में 1.60 करोड़ रुपए की लागत से स्थापित फाईब्रो स्कैन मशीन का विधिवत लोकार्पण किया। यह मशीन लीवर संबंधी रोगों के साथ-साथ लीवर को हुए नुकसान को जांचने में उपयोगी साबित होगी। इस मशीन के लगने से अब लीवर के रोगियों को बायोप्सी करवाने की आवश्यकता नहीं होगी। आईजीएमसी में यह टेस्ट 300 रुपए में किया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री ने गिनवाई उपलब्धियां
इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं पूरे देश में सर्वश्रेष्ठ मानी गई हैं। उन्होंने सीएम से आग्रह किया कि नर्सों के आरकेएस की सेवा अवधि को अनुबंध सेवा में परिवर्तित किया जाए ताकि उन्हें चार साल के बाद नियमित किया जा सके। उन्होंने कहा कि स्वीकृति के लिए यह मामला शीघ्र ही कैबिनेट में प्रस्तुत किया जाएगा।

नर्सिंग पदाधिकारियों ने जताया आभार
नर्सिंग एसोसिएशन की प्रधान भावना ठाकुर व महासचिव कल्पना ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए संघ की मांगें उनके समक्ष रखी। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह से जुड़े कार्यक्रम नर्सों के लिए अपनी समस्याओं के बारे में विचार-विमर्श करने का मौका है। इस दौरान नर्सों के समक्ष आ रही विभिन्न चुनौतियों के बारे में भी विस्तार से चर्चा की गई। उन्होंने मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री का लंबे समय से आ रही उनकी मांगों को पूरा करने के लिए आभार जताया।

छात्राओं के साथ डाली सीएम ने नाटी
कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने छात्राओं के साथ खूब नाटी डाली। निवेदिता नर्सिंग कालेज आईजीएमसी की छात्राओं की ओर से पहाड़ी नाटी प्रस्तुत की गई। इस दौरान छात्राओं ने सीएम, स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह समेत सभी अन्य अतिथियों को भी खूब नचाया। इससे पहले कार्यक्रम की शुरूआत गणेश वंदना से की गई। वहीं नाहन कालेज की छात्राओं ने पंजाबी भंगड़ा प्रस्तुत किया। उसके बाद हरियाणवी व अन्य कई सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।

15-aug
Facebook Comments

Related posts