पांवटा साहिब: संजय सिंघल के समर्थन के बाद भाजपा समर्थित नगर परिषद भंग करने की मांग

न्यूजघाट टीम। पांवटा साहिब
भाजपा समर्थित नगर परिषद संजय सिंघल के समर्थन वापिस लेने के बाद भाजपा समर्थित नगर परिषद के अल्पमत में आते ही कांग्रेस पार्षदांे ने नगर परिषद को तुरंत बर्खास्त करने की मांग कर दोबारा नगर परिषद अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के लिए चुनाव करवाने मांग की है। इसको लेकर आज कांग्रेसी पार्षदों ने एसडीएम पांवटा साहिब को ज्ञापन सौंपा है। विधायक किरनेश जंग की मौजूदगी में पांच कांग्रेस पार्षदो के साथ एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। उन्हांेने पांवटा नगर परिषद के अल्पमत में आने के बाद भाजपा समर्थिात नगर परिषद को भंग करने की मांग की है और दोबारा से चुनाव करवाने की मांग की है।

     इस दौरान पार्षद हरविंद्र कौर, इंद्रप्रीत कौर, भावना चानना, धनवीर कपूर, राजेंद्र मान और एक निर्दलीय पार्षद रेणू डोगरी सहित एसडीएम कार्यालय पहुंचे। उन्हांेने मांग करते हुए कहा कि पिछले एक वर्ष से भाजपा नगर परिषद की आपसी कलह के कारण विकास कार्य ठप्प पड़े हुए हैं। पांवटा की सफाई व्यवस्था हो या और विकासीय मुद्दे नगर परिषद उस पर खरी नहीं उतर पाई। आपसी लड़ाइयों ने लोगों के विकास के सपनों को चकनाचूर कर दिया है। इस मौके पर मंडल अध्यक्ष अश्वनी शर्मा, जिला सचिव विकास वालिया, मनोनीत पार्षद राजेश, इंद्रपाल शाह, शब्बीर अहमद उपस्थित रहे।

क्या कहते हैं एसडीएम?
एसडीएम पांवटा साहिब ने बताया कि नगर परिषद के संजय सिंघल के समर्थन के वापिस लेने के बाद से नप अल्पमत है। इसको लेकर कांग्रेस पार्षदों ने नप पांवटा को भंग कर दोबारा चुनाव करवाने की मांग की है।

Related posts