हिमाचल के कॉलेजों में मोबाइल फोन ‘बैन’, शिक्षकों के लिए होंगे यह नियम

न्यूजघाट टीम। शिमला
प्रदेश के कॉलेजों में हर जगह मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर रोक लगाने के लिए शिक्षा विभाग ने फैसला लिया है। कॉलेजों में फोन प्रयोग करने के लिए अलग से स्थान दिया जाएगा, वहीं शिक्षक भी अपना फोन र्सिफ स्टाफ रूम में ही इस्तेमाल कर पाएंगे। यही नहीं कॉलेजों में सोशल नेटवर्किंग साइट्स के प्रयोग पर भी प्रतिबंध लगाया जा रहा है। बुधवार को शिमला में आयोजित हुई कॉलेजों और विश्वविद्यालय की उच्च शिक्षा विभाग के साथ बैठक में प्रधान शिक्षा सचिव आरडी धीमान ने यह फैसला लिया है। इस बारे में जल्द ही आदेश जारी कर दिए जाएंगे। शिक्षा विभाग का कहना है कि कॉलेजों में तकनीक और वाई-फाई की सुविधा का गलत इस्तेमाल हो रहा है। इसके चलते कॉलेजों में फोन और सोश्ल नेटवर्किंग साइट्स के प्रयोग पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया गया है। शिक्षा विभाग ने कहा कि छात्रों को पढ़ाई पर ध्यान देने और परिसर में अनुशासन बनाए रखने के लिए यह कदम आवश्यक है।

      राजधानी में बुधवार को प्रदेश विश्वविद्यालय सहित प्रदेशभर के 114 कॉलेजों से आए प्रधानाचार्यों की बैठक उच्च शिक्षा विभाग के साथ शिमला में आयोजित हुई। बैठक में रूसा की ग्रांट, रूसा के अंतर्गत कॉलेजों में घटते टीचिंग डे, कॉलेजों की नैक द्वार एक्रीडेश, कॉलेजों की स्थाई एफीलिएशन, रूसा के अंतर्गत पहले व छठे समेस्टर के परीक्षा परिणामों के लिए अवार्ड एंटी्र, कॉलेजों में बी वोक कोर्सिस को शामिल करना, रूसा से कॉलेजों को हुए लाभ, रूसा प्रणाली के तहत नए कॉलेजों व संस्थानों के लिए एक्शन प्लान, कॉलेजों के भवन व इन्फास्ट्रक्चर की स्थिति आदि कई तमाम मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में कॉलेजों के प्रधानाचार्यों ने अपनी अपनी समस्याएं उच्च शिक्षा विभाग के समक्ष रखी। बैठक की अध्यक्षता शिक्षा विभाग के प्रधान शिक्षा सचिव आरडी धीमान ने की।

     इस अवसर पर उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक डॉ बीएल विन्टा, प्रदेश विश्वविद्यालय की डीएस प्रो.गिरीजा शर्मा, विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ जेएस नेगी व प्रदेशभर के राजकीय महाविद्यालयों से आए प्रधानाचार्य उपस्थित थे। रूसा की ग्रांट से कॉलेजों को कई फायदा भी हुआ है। इस बारे में कॉलेज के प्रधानाचार्यो ने अपनी बात सांझा की। राजकीय महाविद्यालय आरकेएमवी व महाविद्यालय सीमा के प्रधानाचार्यें ने कहा कि उनके कॉलेज में रूसा की ग्रांट से स्मार्ट क्लासिस, स्मार्ट लाईब्ररेरी, हॉस्टलों में वॉटर सोलर गिजर, लाईब्ररेरी में ई जर्नल किताबें, प्रोफेसरों को लैपटॉप, कॉलेज में लेंगवेज लैब, मेरीटोरियस छात्रों के लिए स्कॉलरशिप आदि कई सुविधाएं हुई हैं।

Related posts