hids

औद्योगिक नगरी बद्दी से रोजाना निकल रहा पौने 2 करोड़ लीटर दूषित जल

न्यूजघाट टीम। बद्दी
औद्योगिक क्षेत्र बद्दी बरोटीवाला से रोजाना पौने दो करोड़ लीटर दूषित जल निकल रहा है। सरकार द्वारा केंदुआला स्थित काॅमन इंफयूलेंट ट्रीटमेंट प्लांट (सीईटीपी) में यूपीएल इन्वायरमेंटल इंजीनियरिंग कंपनी द्वारा ट्रीट करने से इसका खुलासा हुआ है। इस दूषित जल को केंदुआला सीईटीपी प्लांट में ट्रीट किया जाता है और उसके बाद यह पानी लोगों द्वारा इस्तेमाल भी किया जाता है, जिसमें सिंचाई एवं निजी प्रयोग में इस पानी का इस्तेमाल किया जा रहा है।

15-aug

      दरअसल बद्दी-बरोटीवाला के तहत दूषित जल को पाइप लाइन के जरिए सीईटीपी केंदुआल तक पहुंचाया जा रहा है, जिसका संचालन यूपीएल इन्वायरमेंटल इंजीनियरिंग कंपनी द्वारा किया जा रहा है। इसके लिए यूपीएल कंपनी ने बरोटीवाला झाड़माजरी औद्योगिक क्षेत्र के लिए एक बूस्टिंग पंप भी स्थापित किया गया है, जहां आए दिनों में लगातार पाईप लाइन में ठोस कचरा भारी मात्रा में पाइप लाइन से लगातार निकाला जा रहा है। इससे उद्योगों व सीईटीपी प्रबंधकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

       सीईटीपी मेनेजमेंट ने प्रत्येक उद्योग को पाइन लाइन में दूषित पानी छोडने से पहले इंटरनल सेटअप की ड्राईंग उपलब्ध करवाई गई है। इस ड्राईंग में क्रमानुसार बार कोर्स जाली, फुटवालव, वाई स्टेनर, लोमीटर व अंत में एनआबी लगाने की व्यवस्था के लिए कहा गया है। सीईटीपी मेनेंजमेंट ने सभी उद्योगों से आग्रह किया है कि उपरोक्त लिखित इक्यूपमेंट सही तरीके से स्थापित किए जाएं और उसके बाद ही सीईटीपी की पाइप लाइन में दूषित जल छोड़े। इससे लीकेज व पाइप लाइन के नुकसान को बचाया जा सकता है।

‘‘केंदुआला में सीईटीपी प्लांट में रोजाना पौने 2 करोड़ लीटर पानी ट्रीट किया जाता है और उसके बाद इस पानी को नदी में छोड़ दिया जाता है और कई लोग भी इस जल को इस्तेमाल करते हैं।‘‘ अशोक शर्मा, निदेशक यूपीएल

vishal-garments
Facebook Comments

Related posts