IGMC में दाखिला लेने के लिए अब भरना होगा एंटी रैगिंग डिक्लेरेशन सर्टिफिकेट

वीएस पाठक। शिमला
आईजीएमसी कालेज में एमबीबीएस व अन्य पीजी डिग्री व कोर्स के लिए दाखिला ले चुके छात्रों को अब एंटी रैगिंग डिक्लेरेशन सर्टिफिकेट भी भरना होगा। आईजीएमसी प्रशासन ने सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन के अनुसार इसके लिए निर्देश जारी कर दिए हैं। सभी छात्रों को यह सर्टिफिकेट भरना अनिवार्य किया गया है। यदि कोई छात्र यह सर्टिफिकेट नहीं भरता है, तो प्रशासन छात्र पर संज्ञान भी ले सकता है। हालांकि इसे भरने के लिए अभी तक अंतिम तिथि नहीं दी गई है। मगर छात्रों के लिए इसका फार्म उपलब्ध करवा दिया गया है। ऐसे में अब छात्र आसानी से यह फार्म भर सकेंगे।

negi

ऑनलाइन भर सकेंगे फार्म
छात्रों की सुविधा के लिए यह फार्म ऑनलाइन भरा जा सकेगा। इसके लिए आईजीएमसी ने साइट का लिंक भी डाल दिया है। छात्र एंटी रैगिंग फार्म भरने के लिए आईजीएमसी की साइट पर भी लॉग इन करके उसे अपलोड कर सकते हैं। उसमंे छात्रों का ब्यौरा, एड्रेस, फैमिली ब्यौरा, क्लास समेत कुछ अन्य इंट्रक्शन भी भरनी होगी। आसानी के साथ छात्र इस फार्म को भर सकेंगे।

इसलिए जरूरी है फार्म
सुप्रीम कोर्ट ने रैगिंग को लेकर कड़े नियम बनाए हैं। इसके तहत यदि कोई छात्र कालेज या किसी अन्य शिक्षण संस्थान में रैगिंग करता हुआ पाया जाता है तो उसे न केवल कालेज से निष्काशित किया जाता है बल्कि उसमें सजा का भी प्रावधान है। ऐसे में कोर्ट पहले ही छात्रों से इसके लिए फार्म भरवा देता है। इस फार्म में रैगिंग करने पर सजा के बारे में भी बताया गया है। ऐसे में यह फार्म भरना अनिवार्य किया गया है।

chauhan

क्या कहते हैं प्रिंसिपल
इस मामले में आईजीएमसी के प्रिंसिपल डा. अशोक वर्मा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार प्रत्येक छात्र को एंटी रैगिंग फार्म भरना आवश्यक है। आईजीएमसी की साइट पर यह फार्म डाल दिया गया है। छात्र आसानी से आॅनलाइन इस फार्म को भर सकेंगे। प्रत्येक छात्र के लिए यह अनिवार्य है।

Facebook Comments

Related posts