BSF कमाडेंट साहब ! अब काटो परिवार के सदस्यों सहित जेल में सजा

न्यूजघाट टीम। सोलन
सोलन शहर के क्लीन में रहने वाले एक परिवार ने वर्ष 2007 में अपने बेटे को बीएसएफ का कमांडेंट बताकर एक युवती व उसके परिवार के सदस्यों को प्रभावित किया। दोनों का विवाह हो गया। लेकिन झूठ ज्यादा दिनों तक छिप नहीं पाया।

     विवाह के कुछ दिनों उपरांत ही नई दुल्हन को एहसास हो गया कि उसके साथ धोखा हुआ है। उसका पति कोई कमांडेंट नहीं है। केवल शादी करने के लिए उसके साथ उसके पति व परिवार के अन्य सदस्यों ने षड्यंत्र रच कर धोखा दिया गया। मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज हुई और 10 लोगों को आरोपी बनाया गया।

negi
chauhan

      पुलिस ने मामले की छानबीन की और मामले का चालान अदालत में पेश किया। अब मामले की सुनवाई के दौरान सोलन की अदालत ने सभी 10 आरोपियों को दोषी करार दिया है। सभी को 3 महीने की कैद की सजा व 25 हजार रुपए जुर्माना किया गया। सोलन जिला अदालत के जिला न्यायवादी एनएल सेन ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि सोलन जिला अदालत के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सचिन रघु की अदालत ने इस मामले के सभी 10 आरोपियों को मामले की सुनवाई के दौरान दोषी पाते हुए यह सजा सुनाई है।

       उन्होंने बताया कि विवाह करने के लिए युवक व उसके परिवार के सदस्यों ने युवती के परिवार के लोगों को बताया था कि युवक भूपेंद्र बीएसएफ में कमांडेंट है और वर्तमान में वह राष्ट्रपति भवन में बतौर प्रोटेक्शन गार्ड नियुक्त है। इससे प्रभावित होकर लड़की के परिवार के सदस्यों ने शादी के लिए हामी भर दी, लेकिन बाद में मामला फर्जी निकला।

Facebook Comments
vishal-garments

Related posts