हिमाचल में दीपावली पर्व पर 71 अग्निकांड घटनाएं

न्यूजघाट टीम। शिमला
हिमाचल में दीवाली पर्व पर 71 अग्निकांड की घटनाएं पेश आई। प्रदेश के किन्नौर, लाहौल-स्पिति, चंबा व बिलासपुर जिला को छोड़ बाकी अन्य जिलों में अग्निकांड ने खूब कहर बरपाया। प्रदेश भर में पेश आई 71 अग्निकांड की घटनाओं में 87 लाख की संपत्ति तो जलकर खाक हो गई। जबकि आगजनी की घटनाआंे में दमकल कर्मियों की मुस्तैदी से 12 करोड़ 66 लाख की संपति को अग्निकांड की भेंट चढ़ने से बचा लिया गया।

negi

   दीवाली पर्व पर आगजनी की घटनाएं शिमला में सबसे ज्यादा पेश आई। प्रदेश की राजधानी में पटाखों व आतिशबाजी से 18 आग लगने की घटनाएं सामने आई हैं। शिमला के बाद दूसरे नंबर पर सिरमौर जिला रहा। यहां पर 14 जगह अग्रिकांड की घटनाएं पेश आई। राज्य के नाहन जिला में 4, उना में 9, कुल्लू में 11, मंडी में 3 कांगड़ा में 11, हमीरपुर में 1 आग की घटना पेश आई।

    इन घटनाओं में 14 भीषण अग्निकांड हुए। जबकि 57 आगजनी के छेाटे-बड़े मामले पेश आए है। अग्निशमन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश में हुई आगजनी की घटनाओं में एक दर्जन के करीब दीवाली पर्व पर फायर काल आई। जिसमें समय रहते कार्रवाई कर ली गई।

   अग्निशमन विभाग की माने तो दीवाली पर्व पर एक ही दिन में पेश आई आगजनी की सभी घटनाएं पटाखों व आतिशबाजी के कारण हुई। आतिशबाजी व पटाखांे से भड़की चिंगारी के कारण आग फैल गई। विभाग द्वारा लोगांे को पहले ही पटाखों व आतिशबाजी से होने वाले आग की घटनाओं के बारे में जागरूक भी किया गया था। बावजूद इसके भी खुशियांे के त्यौहार दीपावली पर लोगों ने पटाखे फोड़ने व आतिशबाजी चलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

chauhan

   दीवाली पर्व पर होने वाली आगजनी की घटनाओं को रोकने के लिए विभाग पहले से ही तैयार था। विभाग की तरफ से प्रदेश भर के दमकल केंद्रों व पटाखों के बिक्री स्थलों पर राउंड़ द क्लाक कर्मचारी तैनात किए गए थे। यही वजह है कि दमकल कर्मियों की मुस्तैदी से 71 अग्निेकांडों पर समय रहते काबू पा लिया गया था।

   अग्निशमन विभाग के चीफ फायर आफिसर जगदीश चंद शर्मा का कहना है कि दीवाली पर्व पर प्रदेश भर में 71 आगजनी की घटनाएं पेश आई हैं। जिसमें 87 लाख की संपत्ति जलकर खाक हुई है। आगजनी की इन घटनाओं से 12 करोड़ 86 लाख की संपति को बचा लिया गया है।

Facebook Comments

Related posts