राजगढ़: बडू साहिब इंटरनल विवि में दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन

न्यूजघाट टीम। नाहन
इंटरनल विश्वविद्यालय बडू साहिब में नर्सिंग कालेज के छठवें दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन ‘‘बीजिंग द गैप बिटवीन थ्योरी एंड प्रेक्टिकल इन नर्सिंग’’ का आयोजन किया गया। भाई गुरदास हाल में आयोजित किए गए इस कार्यक्रम में कलगीधर ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं इंटरनल विश्वविद्यालय के चांसलर बाबा इकबाल सिंह विशेष तौर पर उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि आज के दौर में संस्कार मिश्रित शिक्षा छात्रों को दिए जाने की आवश्यकता है, ताकि समाज में मानवीय मूल्यों को बचाया जा सके।

negi

       कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ इंटरनल विश्वविद्यालय के उपकुलपति डॉ. एचएस धालीवाल ने किया। इस अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम में देश-विदेश से दर्जनों शोधार्थी यहां पहुंचे हैं। कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि पहुंचे डॉ. केपी चैधरी, निदेशक मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च ने अपने संबोधन में कहा कि बडू साहिब किसी स्वर्ग से कम नहीं है। उन्होंने यहां पर विश्वविद्यालय व अनुशासित छात्र-छात्राओं की जमकर तारीफ की। जबकि अकाल कालेज ऑफ नर्सिंग की प्रिंसिपल डॉ. रंजित कौर ने बाहर से आए सभी मेहमानों का धन्यवाद किया।

      कलगीधर ट्रस्ट के सचिव डॉ. देवेंद्र सिंह ने कलगीधर ट्रस्ट द्वारा किए जा रहे स्वास्थय, शिक्षा के संबंधित कल्याणकारी कार्यों की विस्तृत जानकारी बाहर से यहां पहुंचे लोगों को दी। डीन डॉ. नीलम कौर ने अकाल कालेज ऑफ नर्सिंग में किएbhadu-sahib-1 जा रहे आध्यात्मिक कार्यों को दर्शाया। उन्होंने कहा कि अकाल कालेज ऑफ नर्सिंग में मूल्य आधारित व्यवसाय, दक्षता के उच्चतम स्तर को प्राप्त करने के लिए वैज्ञानिक कौशल प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है। यहां पर अनुशासन, ईमानदारी, प्रमाणिकता, परिश्रम और समर्पण जैसे गुणों को छात्रों में उभारा जाता है, ताकि यहां अध्ययनरत नर्सिंग छात्राएं दयालु के साथ-साथ एक बेहतर जिम्मेदार नागरिक भी बन जाए।

chauhan

     इस अवसर पर डॉ. जसजीत अटवाल फाउंडर मेंबर इंटरनल ग्लोबल यूनिवर्सिटी कलगीधर ट्रस्ट, डॉ. एमएस अटवाल फाउंडिंग वाइस चांसलर ने भी अपने विचार रखे। अमेरिका से यहां पहुंचे प्रोफेसर ब्रायन (असिस्टेंट क्लीनिक प्रोफेसर ड्रेक्सल यूनिवर्सिटी फिलेडेल्फिया अमेरिका) ने कहा कि नर्सिंग का कार्य खुद में ही सेवा भाव से भरा कार्य है। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तानी नर्सें पूरे विश्व में मेहनतकश व अपने कार्य के लिए ईमानदार मानी जाती है। डॉ. एचएस चैहान विभागाध्यक्ष अकाल कालेज ऑफ हेल्थ व एलायड साइंस ने पहला पूर्ण सत्र आरंभ किया। अकाल कालेज आफ बडू साहिब की असिस्टेंट प्रोफेसर अचला डीए गायकवाड़ ने पहले सत्र का अवलोकन किया जोकि अवधारणा व जागरूकता के विषय पर निर्धारित था।

     इस सत्र के अध्यक्ष डॉ. जिल डरस्टाइन असिस्टेंट प्रोफेसर ड्रेक्सल विश्विद्यालय अमेरिका थे। जबकि दूसरे सत्र के लिए bhadu-sahib-2अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. चंद्र सरीन प्रिंसिपल रायत बहारा नर्सिंग कालेज मोहाली थे। तीसरे सत्र के लिए प्रिंसिपल राजीव गांधी नर्सिंग कालेज जम्मू कश्मीर से राफिका बशीर थे। इसके अलावा डॉ. लेखा विश्वनाथ, अमेरिका से डॉ. मेरिलोउ मैकहुग, देवी बाला चंद्रन विभागाध्यक्ष वयस्क स्वास्थय व क्रिटिकल केयर,सुलतान कबूस यूनिवर्सिटी ओमान, द्वितीय संपूर्ण सत्र में बेंगलोर से प्रोफेसर डॉ. ललिता, सिक्किम से डॉ. हसीना बनी, नर्सिंग कालेज बैंगलोर से डॉ. प्रोफेसर सुब्रत सरकार, सरस्वती मोहाली नर्सिंग कालेज से किजुम सोरा खरगा, गणपत राव आदके, नर्सिंग कालेज नासिक महाराष्ट्र की प्रिंसिपल डॉ वैशाली सिद्दार्थ ने भी अपने विचार रखे।

Facebook Comments
vishal-garments

Related posts