प्रशिक्षण केंद्र शमशी में दीक्षांत परेड समारोह में ली देश सेवा की शपथ

न्यूजघाट टीम। कुल्लू
प्रशिक्षण केंद्र शमशी में 44 सप्ताह के कठिन प्रशिक्षण के बाद हिमाचल प्रदेश के 18 जवानों सहित कुल 349 जवान सोमवार को विधिवत रूप से सशस्त्र सीमा बल में शामिल हो गए। शमशी में आयोजित भव्य दीक्षांत परेड समारोह में 16वीं बीआरटीसी के इन नव आरक्षियों ने देश सेवा की शपथ ली।

chauhan

     समारोह में सशस्त्र सीमा बल के अपर महानिदेशक एवं वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी सुरजीत सिंह देसवाल ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया तथा भव्य दीक्षांत परेड की सलामी ली। इस मौके पर नव आरक्षियों को शुभकामनाएं देते हुए देसवाल ने कहा कि इन्हें भारत-नेपाल और भारत-भूटान सीमा पर तैनात किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मित्र देशों की सीमा की रक्षा अपने आप में एक अलग तरह की चुनौती है और इससे निपटने में एसएसबी बहुत ही अच्छी भूमिका अदा कर रही है। देसवाल ने बताया कि पिछले वर्ष एसएसबी ने 225 करोड़ रुपए से अधिक का प्रतिबंधित सामान पकड़ा है। इसमें लगभग 57 करोड के नशीले पदार्थ शामिल हैं। इस वर्ष भी सितंबर के अंत तक 226 करोड़ का प्रतिबंधित सामान पकड़ा जा चुका है, जिसमें 117 करोड़ के नशीले पदार्थ शामिल हैं।

     इससे पहले अपर महानिदेशक का स्वागत करते हुए प्रशिक्षण केंद्र शमशी के कार्यकारी कमांडेंट नरेश कुमार लाकड़ा ने बताया कि प्रशिक्षण के दौरान नव आरक्षियों को शारीरिक व सशस्त्र प्रशिक्षण के अलावा बार्डर मैनेजमेंट,jawan आपदा प्रबंधन, आंतरिक सुरक्षा, नक्सलवाद विरोधी अभियान और कानून व्यवस्था की नई चुनौतियों से संबंधित अन्य पहलुओं का भी प्रशिक्षण दिया गया। समारोह के दौरान नव आरक्षियों ने जूडो, रिफ्लैक्स शूटिंग, मास पीटी, वाॅल्टिंग हाॅर्स व अन्य गतिविधियों का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया।

      मुख्य अतिथि ने विभिन्न गतिविधियों में श्रेष्ठ रहे प्रशिक्षुओं को पुरस्कृत भी किया। इनमें धर्मेंद्र सिंह को सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षु का पुरस्कार दिया गया। खेलकूद एवं शारीरिक गतिविधियों के लिए धर्मपाल, उत्कृष्ट निशानेबाज रविंद्र सिंह, बाहरी गतिविधियांे में जितेंद्र सिंह, आंतरिक गतिविधियों में अमित कुमार और उत्कृष्ट ड्रिल एवं पहनावे के लिए मंदीप सिंह को पुरस्कृत किया गया।

negi
Facebook Comments
vishal-garments

Related posts