नाहन : तहसीलदार हरनोट ने दिखाई मानवता, दुर्घटना के घायल को पहुंचाया अस्पताल

अंजलि त्यागी। कालाअंब
भले ही सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार मानवता को बड़ा ओहदा दिया गया है, जिसमें कोई भी व्यक्ति सड़क पर पड़े घायल व्यक्ति को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवा सकता है। इस पर पुलिस भी उक्त व्यक्ति से कोई भी पूछताछ नहीं कर सकती। परंतु इन आदेशों का असर आज भी लोगों में नहीं दिख रहा है।

      ऐसा ही माजरा कुछ कालाअंब के खैरी गांव में भी देखने को मिला, जहां एक बाइक सवार अपना संतुलन खो बैठा व दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस दौरान बाइक सवार सड़क पर कराहाता रहा, परंतु उक्त युवक को उठाने के लिए कोई भी व्यक्ति आगे नही आया। मंजर इतना दर्दनाक था कि किसी का भी दिल पसीज जाए। मगर मौजूद लोग तमाशबीन बने रहे। इसी वक्त त्रिलोकपुर से नाहन आ रहे नाहन तहसीलदार आरडी हरनोट से ये मंजर देखा नहीं गया। तभी उन्होंने अपनी गाड़ी में घायल व्यक्ति को नजदीकी अस्पताल पहुंचाया।

     हालांकि कुछ देर पहले यहां से प्रशासनिक अमला भी गुजरा था। बताया गया कि दुर्घटनाग्रस्त बाइक सवार गुरमीत सिंह कालाअंब के झिड़ीवाले गांव का निवासी है, जो कालाअंब से त्रिलोपुर की तरफ जा रहा था। अस्पताल के डॉ. मोहित ने घायल का उपचार किया। फिलहाल घायल व्यक्ति अभी खतरे से बाहर है।

तहसीदार ने की मानवता की मिसाल कायम
मानवता की एक नई मिसाल कायम करते हुए नाहन तहसीलदार ने कालाअंब में सडक दुर्घनाग्रस्त घायल को निजी अस्पताल पहंुचाया। इस बारे में उन्होंने कहा कि यह बड़ी ही विडंबना है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के बावजूद भी लोग इस प्रकार की परिस्थिति में आगे नहीं आते। न जाने वह व्यक्ति कितनी देर से सड़क पर पड़ा तडप रहा था।

chauhan

     बता दंे कि नाहन तहसीलदार सदा ही गरीबों व बेसहारों की मदद के लिए तत्पर रहते है। अपने विनम्र व मृदभाषी स्वभाव के कारण नाहन के लोगों की दिलों में राज करते है। खैरी में घायल व्यक्ति की मदद कर उन्होंने साबित कर दिया कि वे अच्छे अधिकारी होने के साथ-साथ इंसानियत के पथिक भी है।

negi
Facebook Comments
vishal-garments

Related posts