देवभूमि के रिकांगपिओ अस्पताल को कायाकल्प अवार्ड, झटका नंबर वन का खिताब

न्यूजघाट टीम। हमीरपुर

सूबे में स्वच्छ भारत अभियान के तहत क्षेत्रीय अस्पताल रिकांगपिओ को कायाकल्प अवार्ड मिला है। इसके तहत अस्पताल को पांच लाख रुपये का नकद पुरस्कार मिलेगा। इसके साथ ही सूबे के दस अस्पतालों को प्रशस्ति अवार्ड मिला है। इसके तहत इन अस्पतालों को तीन-तीन लाख रुपये का नकद पुरस्कार मिलेगा। द्वितीय श्रेणी में सीएचसी कुठेर और तृतीय श्रेणी में जिला किन्नौर, कुल्लू, मंडी, सिरमौर, सोलन और कांगड़ा के प्राथमिक स्वास्थ्य केद्रों की सेवाएं बेहत्तर पाई गई हैं। द्वित्तीय श्रेणी के प्रथम रहे सीएचसी को डेढ़ लाख और तृतीय श्रेणी में अव्वल रहे आधा दर्जन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को दो-दो लाख रुपये का नकद पुरस्कार मिलेगा।

       कायाकल्प अवार्ड कमेटी द्वारा प्रदेशभर में विशेष टीमें गठित कर सभी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण किया गया। औचक निरीक्षण के दौरान अस्पतालों की सफाई व्यवस्था, मरीजों को मिल रही सुविधाओं सहित आपरेशन थियेटरों, ओपीडी, कचरा प्रबंधन और आपातकालीन कक्षों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान क्षेत्रीय अस्पताल रिकांगपिओ की सुविधाएं बेहत्तर पाई गई हैं। इसके चलते अस्पताल को प्रथम पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है।

      इसके अलावा क्षेत्रीय अस्पताल हमीरपुर, सिविल अस्पताल सरकाघाट, पालमपुर, रोहड़ू, टौणीदेवी, पाबंटा साहिब, डल्हौजी, करसोग, जोनल अस्पताल मंडी और क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू को प्रशस्ति अवार्ड के लिए चुना गया है। इसके तहत इन सभी अस्पतालों को तीन-तीन लाख रुपये की राशि मिलेगी। वहीं दूसरी श्रेणी में सीएचसी कुठेर को प्रथम पुरस्कार मिला है, जबकि सीएचसी शिलाई को प्रशस्ति अवार्ड मिला है। इसके चलते सीएचसी कुठेर को डेढ़ लाख और सीएचसी शिलाई को एक लाख रुपये का नकद पुरस्कार मिलेगा।

negi
chauhan

       वहीं तृतीय श्रेणी में जिला किन्नौर का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र किल्बा को पहला, स्पिलो को प्रशस्ति अवार्ड, जिला कुल्लू के गारसा को पहला, जिला मंडी के पंगना को पहला, पाली और दरामन को प्रशस्ति अवार्ड, जिला सिरमौर के कोला वाला भूड को पहला, जिला सोलन के पट्टा महलोग को पहला, दोमेहर को प्रशस्ति अवार्ड और जिला कांगड़ा के बीड़ को पहला, खेरियां और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सियूं को प्रशस्ति अवार्ड मिला है।  पहले स्थान पर रहे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को दो लाख रुपये की नकद राशि, जबकि प्रशस्ति अवार्ड के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को 50 हजार रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाएगा।

    उधर, हिप्र कायाकल्प अवार्ड कमेटी के चेयरमैन प्रबोध सक्सेना का कहना है कि कायाकल्प अवार्ड के लिए जिला अस्पताल रिकांगपिओ पहले स्थान पर रहा है। कायाकल्प अवार्ड में प्रदेशभर के कुल 25 अस्पतालों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का चयन किया गया है।

Facebook Comments
vishal-garments

Related posts