आंतरिक सुरक्षा के मोर्चे पर पुलिस रोजाना लड़ती हैं लड़ाई, बोले DGP संजय

न्यूजघाट टीम। शिमला। सोलन। ऊना
हिमाचल प्रदेश के पुलिस महानिदेशक संजय कुमार ने कहा कि पुलिस आंतरिक सुरक्षा के मोर्चे पर रोजाना लड़ाई लड़ती है। बिना शांति के विकास संभव नहीं है। बॉर्डर पर संघर्ष या लड़ाई तो कभी-कभार होती है। मगर पुलिस को हर दिन इन चीजों का सामना करना पड़ता है। डीजीपी पुलिस ग्राउंड भराड़ी में पुलिस शहीदी दिवस पर बोल रहे थे।

      उन्होंने कहा कि शहीद पुलिस कर्मियों और सीआरपीएफ जवानों के बलिदान को याद करना काफी महत्वपूर्ण है। चूंकि इससे आंतरिक सुरक्षा को मजबूत करने और पुलिस कर्मियों का उत्साह बढ़ाने में मदद मिलती है। उन्होंने बताया कि 21 अक्टूबर 1959 को लद्धाख क्षेत्र में सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद से पुलिस द्वारा इस दिन पूरे देश में श्रद्धाजंलि दी जाती है।

negi

डीजीपी व वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने याद किया पुलिस कर्मियों का बलिदान
हिमाचल पुलिस ने इसी उपलक्ष्य में भराड़ी ग्राउंड में कार्यक्रम आयोजित कर पुष्पांजलि अर्पित की। पुलिस सप्ताह तक कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को पुलिस जवानों की शहादत के बारे में जागरूक करेगी। कार्यक्रम में अधिकांश वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने भाग लिया।

chauhan

सोलन में पुलिस स्मरण दिवस मनाया, शहीदों को दी श्रद्धांजलि
सोलन। पुलिस मैदान में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी पुलिस स्मरण दिवस मनाया गया। इसमें पुलिस विभाग द्वारा ड्यूटी के दौरान शहीद हुए जवानों को यादकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर उपायुक्त सोलन राकेश कंवर, पुलिस अधीक्षक अंजुम आरा और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. मनमोहन सिंह, डीएसपी वीसी नेगी व डीएसपी अमित शर्मा, डीएसपी अनिल कुमार विशेष रूप से उपस्थित रहे। पुलिस अधीक्षक अंजुम आरा ने कहा कि 21 अक्तूबर को स्मरण दिवस पूरे भारत वर्ष में मनाया जाता है, जिसके चलते आज सोलन में भी विभाग द्वारा पुलिस लाईन मैदान में परेड का आयोजन किया गया।

ऊना में पुलिस जवानों ने किया रक्तदान
ऊना। जिला पुलिस ने शहीदी दिवस के अवसर पर देश के अर्द्धसैनिक पुलिस संगठनों और पुलिस बलों के शहीदों को नमन कर श्रद्धांजलि अर्पित की। पुलिस लाइन झलेड़ा में आयोजित शहीदी दिवस पर एसपी अनुपम शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस मौके पर पुलिस द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन भी किया गया। इसमें पुलिस के आला अधिकारियों व जवानों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया। शोक परेड की टोली ने शहीदी पुस्तिका को ससम्मान मंच पर रखा, जिसे एसपी ने पढ़ा व 473 शहीद जवानों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

Facebook Comments

Related posts