DIWALI-SHOPPING-DHAMAKA.jpg

लोरियल काॅस्मैटिक उद्योग में कामगारों ने प्रबंधन के खिलाफ खोला मोर्चा

ठेकेदारी प्रथा से जताई नाराजगी, कार्य बंद
न्यूजघाट टीम। बद्दी
औद्योगिक क्षेत्र झाड़माजरी स्थित एम प्लाजा के पास हाल ही में शुरू हुई लोरियल कॉस्मैटिक उद्योग के खिलाफ कामगारों ने मोर्चा खोल दिया है। ठेकेदारी प्रथा समेत अनेक प्रकार के आरोप लगाते हुए पहले तो कामगारों ने काम बंद कर दिया और बाद में उद्योग से लेकर श्रम विभाग तक पैदल रैली निकाली व श्रम कार्यालय के बाहर उद्योग प्रबंधकों व श्रम विभाग के खिलाफ खूब नारेबाजी की।

vishal-garments

     उद्योग के कामगारों रजनीश, संदीप, कस्तूरी लाल, कुलदीप, लेखराज, आयूष, धीरज, अरविंद्र, अमित, विकास, सुरेश, मोहन, अश्वनी, अमन, शिवानी व पूजा का कहना है कि उक्त उद्योग कहने को तो एक मल्टीनेशनल उद्योग है, परंतु यहां ठेकेदारी प्रथा जोरों से चली हुई है व उद्योग में बिना किसी कंटैªक्ट से भी काम हो रहा है। यही नहीं उद्योग में जो पहले से काम कर रहे हैं उन्हें रेगुलर करने की बजाय बाहर के लोगों को रेगुलर किया जा रहा है। उद्योग में कंपनी के लोगों को तो बस की सुविधा है, परंतु कंपनी में जो तीन शिफटों में काम कर रहे हैं उन्हें कोई भी सुविधा नहीं दी जा रही।

    आईटीआई के लड़कों को धोखे में रखा जा रहा है। ठेके पर रखे कामगारों को एक साल के बाद पक्का करने को कहा जाता है पर नहीं किया जा रहा है। आलम यह है कि हिमाचल के 70 प्रतिशत युवाओं को रोजगार के नियम की धज्जियां उड़ाई जा रही है व 80 प्रतिशत कामगार बाहर के हैं। कामगारों का आरोप है कि उद्योग में कामगारों का सरेआम शोषण हो रहा है। उन्होंने कहा कि जब तक उन्हें पक्का नहीं किया जाता व उनकी सारी मांगे नहीं मान ली जाती तब तक उनका संगर्ष जारी रहेगा।

     श्रम अधिकारी बद्दी मनीष करोल का कहना है कि उनके पास आज ही शिकायत आई है व इस पर आवश्यक कारवाई अमल में लाई जाएगी।

Facebook Comments

Related posts