DIWALI-SHOPPING-DHAMAKA.jpg

10 साल सलाखों के पीछे रहने के बाद ये शख्स फिर पहुंचा जेल की चारदिवारी के बीच, पढ़े क्यों?

न्यूजघाट टीम। सुंदरनगर
एक शख्स 10 साल सलाखों के पीछे रहने के बाद भी नहीं सुधरा। नतीजतन तकरीबन 4 साल खुली हवा में सांस ली और अब एक बार फिर अपराध को अंजाम देने के चलते उसे जेल की चारदिवारी में ही पहुंचना पड़ा। इस शख्स की उम्र भी 60 साल है। उम्र के इस पड़ाव में अपराध की दुनिया से जुड़े रहना अब उसे महंगा ही पड़ेगा।

      जी हां हम बात कर रहे हैं कि 60 वर्षीय नेपाली मूल के उस शख्स प्रेम सिंह पुत्र धन सिंह की, जो 4 अगस्त को सुंदरनगर पुलिस के हत्थे 22 किलो 350 ग्राम चूरापोस्त की खेप के साथ दबोचा गया था। बता दें कि एनएच-21 से सटे बीएसएल काॅलोनी रोड पर सुंदरनगर पुलिस व पीओ सेल की टीम ने नाकाबंदी के दौरान पंजाब रोडवेज की बस में सवार प्रेम सिंह को भारी मात्रा में चूरापोस्त की उपरोक्त खेप के साथ गिरफतार किया था। पुलिस की मानें तो चूरापोस्त बरामदगी मामले में दबोचा गया प्रेम सिंह पिछले लंबे समय से नशे के कारोबार से जुड़ा हुआ था। इससे पहले भी प्रेम सिंह करीब 3 किलोमीटर नशे के खेप के साथ कुल्लू जिला में गिरफतार किया गया था। इसके बाद उसे उक्त मामले में 10 साल की सजा हुई थी। सजा पूरी करने के बाद प्रेम सिंह वर्ष 2012 में ही जेल से रिहा हुआ था।

      कहते हैं कि अपराध के बाद जेल में पहुंचने के बाद सलाखें व्यक्ति को सुधारने का मौका देती हैं। साथ ही आरोपी को अपनी गलती का भी एहसास करवाती हैं, लेकिन प्रेम सिंह के साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ। वह जेल से बाहर निकला और फिर नशे के कारोबार से जुड़ गया। बुरे काम का नतीजा फिर बुरा ही निकला और प्रेम सिंह फिर पुलिस के हत्थे चढ़ सलाखों के पीछे पहुंच गया। उधर एएसपी मंडी कुल्लूभूषण के अनुसार आरोपी प्रेम सिंह पहले भी नशे के कारोबार से जुड़ा हुआ था। उन्होंने कहा कि पुलिस हर पहलू को ध्यान में रखकर मामले की गहनता से जांच कर रही है।

vishal-garments

प्रेम सिंह के जरिये सरगनाओं तक पहुंचने की कोशिश में पुलिस
जानकारी के अनुसार आरोपी प्रेम सिंह से पूछताछ के बाद पुलिस टीमों ने छानबीन करते हुए ऊना व कुल्लू जिला के विभिन्न स्थानों पर दबिश दी है। पुलिस आरोपी प्रेम सिंह की मोबाइल डिटेल व कुछ अन्य जानकारियों को आधार बना कर जांच में जुटी हुई है। इसी कड़ी में पुलिस ने युवक के रिर्चाज डिटेल सहित सिम कार्ड के आईडी प्रुफ की तहकीकात करते हुए दो व्यक्तियों से भी पूछताछ कर उनके बयान कलमबंद किए है। वही पुलिस इस धधें से जुड़े मुख्य सरगनाओं तक पहंुचने के लिए जोर अजमाईश कर रही है। लेकिन नतीजा जांच पूरी होने के उपरांत ही सामने आ पाएगा।

Facebook Comments

Related posts