DIWALI-SHOPPING-DHAMAKA.jpg

मां-बेटे के मिलन का प्रतीक अंतरराष्ट्रीय मेला श्री रेणुका जी इस वर्ष 9 से 14 नवंबर तक

न्यूजघाट टीम। नाहन
मां-बेटे के मिलन का प्रतीक अंतरराष्ट्रीय मेला श्री रेणुका जी हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी 9 से 14 नवंबर तक श्री रेणुका जी तीर्थाटन में पारंपरिक ढंग से आयोजित किया जाएगा। परंपरा के अनुसार इस मेले में भगवान परशुराम अपनी मां रेणुका से मिलने पहुंचते हैं। रेणुका जी में अंतरराष्ट्रीय मेला श्री रेणुका जी-2016 के प्रबंध के लिए रेणुका जी विकास बोर्ड की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता बोर्ड के अध्यक्ष एवं सीपीएस विनय कुमार ने की। उन्होंने बताया कि मेले का शुभारंभ 9 नवंबर को भगवान परशुराम की शोभायात्रा से होगा।
मुख्यमंत्री करेंगे शुभारंभ, तो राज्यपाल करेंगे समापन
परंपरा के अनुसार 9 नवंबर को मेले का शुभारंभ राज्य के मुख्यमंत्री करेंगे। जबकि समारोह समारोह के मुख्यातिथि राज्यपाल होंगे। ददाहू वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के प्रांगण में मुख्यमंत्री द्वारा भगवान परशुराम की पालकी का अभिनंदन किया जाएगा।
उत्तर भारत का प्रसिद्ध तीर्थाटन
रेणुका जी उत्तर भारत का सबसे प्रसिद्ध तीर्थाटन है। हर वर्ष लाखों की तादाद में श्रद्धालु एवं पर्यटक रेणुका जी की पवित्र झील में स्नान करने को आते हंै। श्री रेणुका मेला प्रदेश के प्राचीन धार्मिक मेलों में से एक है और यह मेला हर वर्ष कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की दशमी से पूर्णिमा तक मनाया जाता है। भगवान परशुराम जामूकोटी से अपनी माता से मिलने वर्ष में एक बार आते है और यह मेला मॉ-पुत्र के पावन मिलन पर धार्मिक तौर पर मनाया जाता है।
सभी आवश्यक प्रबंध पूरे करने के आदेश
बैठक में सीपीएस विनय कुमार ने मेले की प्राचीन गरिमा बनाए रखने के दृष्टिगत सभी आवश्यक प्रबंध समय पर पूरे करने के अधिकारियों का निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मेले को सुचारू ढंग से संचालित करने के लिए उपसमितियों का गठन किया गया है। उन्हांेने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि मेले के दौरान ददाहू के पास गिरि नदी पर अस्थाई पुल निर्मित करने के लिए एक योजना बनाई जाए, ताकि लोगों को मेले के दौरान आने जाने के लिए एक वैकल्पिक व्यवस्था हो सके। उन्होंने कहा कि मेले को आकर्षक बनाने के लिए हिमाचली तथा स्थानीय कलाकारों को प्राथमिकता दी जाएगी । इसके अतिरिक्त फिल्म जगत से कलाकारों को बुलाने पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मेले मेें लोगों की सुविधा के लिए स्पैशल बसें लगाई जाएगी। सीपीएस ने कहा कि मेले मेें कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा के विशेष प्रबंध किए जाएंगें।
Facebook Comments

Related posts