DIWALI-SHOPPING-DHAMAKA.jpg

भ्रूण की जांच करना व करवाना कानूनी अपराध, बोली सिविल जज ऐश्वर्य

न्यूज घाट टीम। ऊना
राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण शिमला के सौजन्य से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ऊना द्वारा नगर पंचायत परिसर टाहलीवाल मेें विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर की अध्यक्षता सिविल जज कोर्ट नंबर तीन ऊना ऐश्वर्य शर्मा ने की। इस अवसर पर बोलते हुए उन्हांेने कहा कि मां के गर्भ में पल रहे भ्रूण की जांच करना व करवाना कानूनी अपराध, बोली सिविल जज ऐश्वर्य की लिंग जांच करना व करवाना दोनों कानूनन अपराध है। ऐसा करने वालों को कानूनन भारी जुर्माने के साथ-साथ कडी सजा का भी प्रावधान किया गया है।

      उन्होंने कहा कि वह मां के गर्भ में पल रहे कन्या भ्रूण की जांच करना व करवाना कानूनी अपराध, बोली सिविल जज ऐश्वर्य की हत्या कानून के साथ-साथ न केवल महापाप है, बल्कि एक सामाजिक अपराध भी है। उन्होंने इस सामाजिक अपराध को रोकने के लिए अपने आसपास हो रही ऐसी घटनाओं के प्रति सचेत व सजग रहने का आहवान किया।

vishal-garments
Facebook Comments

Related posts