DIWALI-SHOPPING-DHAMAKA.jpg

नशे का बड़ा सरगना था अतुल उर्फ तूली, मां भी देती थी कारोबार में साथ

नाहन। पांवटा साहिब में बीते मंगलवार को पुलिस के हत्थे चढ़ा 35 वर्षीय अतुल कुमार शहर में नशे के कारोबार का एक बड़ा सरगना था। नशा करने वाले व्यक्तियों के बीच अतुल कुमार तूली के नाम से विख्यात था। यही नहीं इतने बड़े स्तर पर नशे का कारोबार करने वाले अतुल की मां गीता देवी भी उसके इस अवैध कारोबार में उसका कदम-कदम पर साथ देती थी। नशे के इस कारोबार में दोनों मां-बेटे की पृष्ठभूमि चैकाने वाली है। पुलिस छानबीन में यह बात सामने आई है कि तीन संगीन वारदातों में तूली ने ही स्मैक की सप्लाई की थी। पांवटा साहिब में एक शिक्षिका की हत्या के आरोपी को भी तूली ने ही स्मैक दी थी। यही नहीं एक युवक ने नशा न मिलने के कारण आत्महत्या कर ली थी, क्योंकि तूली ने उसे पैसे के बिना नशे का सामान देने से इंकार कर दिया था। इसके अलावा उत्तराखंड की सीमा में एक युवक की मौत नशे के ओवरडोज के कारण हुई थी। पुलिस को अब उम्मीद है कि तूली व उसकी मां के सलाखों के पीछे पहुंचने के बाद शहर में काफी हद तक नशे के कारोबार में अंकुश लगेगा। मां-बेटे सहित उनके एक अन्य रिश्तेदार को दबोचने से पुलिस ने पांवटा साहिब में नशे के कारोबार की कमर तोड़ कर रख दी है। सनद रहे कि बुधवार को पुलिस ने इन तीनों आरोपियों के कब्जे से भारी मात्रा में स्मैक, चूरा पोस्त व कोरेक्स की शीशियों की खेप बरामद की थी।

vishal-garments

अवैध कारोबार से बना ली लाखों-करोड़ों की संपत्ति
नशे के कारोबार के मुख्य आरोपी तूली ने इस अवैध कारोबार से लाखों-करोड़ों रूपए की संपत्ति भी बनाकर अपनी वित्तिय स्थिति को काफी मजबूत कर लिया। हालांकि यह जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि आरोपी की कितनी संपत्ति है। पांवटा साहिब के अलावा देहरादून में भी तूली की अचल संपत्ति होने की पुलिस को जानकारी मिली है। लिहाजा पुलिस जल्द ही मुख्य आरोपी की वित्तिय स्थिति को लेकर भी कार्रवाई शुरू कर सकती है।

हिमाचल के कहां-कहां हो रही थी सप्लाई

पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि मुख्य आरोपी अतुल हिमाचल में कहां-कहां नशे का सामान सप्लाई करता था। यह बात पुलिस जांच के बाद ही सामने आ सकेगी कि नशे के कारोबार का प्रदेश में कितना बड़ा नेटवर्क है।

15 सालों से कर रहा था कारोबार

सूत्रों की मानें तो मुख्य आरोपी व उसकी मां नशे का यह कारोबार पिछले 15 सालों से कर रहे थे। धीरे-धीरे कर तूली इस अवैध कारोबार का सरगना बन गया, जोकि पड़ोसी राज्यों से भारी मात्रा में नशे की तस्करी कर यहां के युवाओं व एजेंटों को सप्लाई करता था। ऐसे में आरोपी के सलाखों के पीछे पहुंचने से स्थानीय लोगों ने राहत की सांस जरूर ली है।

हर कोई कर रहा पुलिस की सराहना
नशे के कारोबार का मुख्य सरगना तूली पुलिस द्वारा दबोचने जाने के बाद हरेक शहरवासी पुलिस की भूरि-भूरि प्रशंसा कर रहा है। खासतौर पर डीएसपी पांवटा भीष्म ठाकुर व युवा अधिकारी एसएचओ अशोक चैहान की। यहां तक की बुधवार को बहुत से लोग पुलिस का आभार जताने के लिए थाने में भी पहुंचे। सोशल मीडिया पर भी पुलिस की भरपूर प्रशंसा हो रही है। यहां तक की बधाई के लिए बहुत से फोन भी पुलिस अधिकारियों के पास पहुंच रहे हैं। संभवतः ऐसा पहली बार ही हुआ है, जब स्थानीय पुलिस की इतने बड़े स्तर पर प्रशंसा हो रही है।

क्या हैं मामला ?

पुलिस ने मंगलवार रात के समय एक आल्टो कार से मुख्य सरगना अतुल व उसकी मां गीता के अलावा उनके एक रिश्तेदार को 11 किलो चूरापोस्त, साढ़े 10 ग्राम स्मैक व 100 कोरेक्स की शीशियों की खेप के साथ गिरफतार किया था। यह नशा पड़ोसी राज्यों से यहां लाया जा रहा था।

Facebook Comments

Related posts