पूर्व मुख्यमंत्री धूमल ने किया विदेश मंत्रालय द्वारा लगाए गए पासपोर्ट शिविर का शुभारंभ

न्यूजघाट टीम। हमीरपुर
जिला हमीरपुर, चंबा, कांगड़ा, ऊना व बिलासपुर जिले के लोगों को अब पासपोर्ट बनवाने के लिए मीलों दूर शिमला नहीं जाना पड़ेगा। पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने शनिवार को हमीरपुर जिला मुख्यालय में पासपोर्ट सेवा कैंप का उद्घाटन किया। केंद्रीय विदेश मंत्रालय के सौजन्य से पासपोर्ट सेवा का कैंप हमीरपुर में लगाया जा रहा है। इस अवसर पर क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी प्रवीन मोहन सहाय ने बताया कि केंद्रीय विदेश मंत्रालय द्वारा यह सुविधा दी जा रही है। इस कैंप में लगभग ढाई सौ व्यक्तियों का पासपोर्ट बनाया जाएगा।

      पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले हमीरपुर और आसपास के जिला के लोगों को पासपोर्ट बनाने के लिए शिमला में भटकना पड़ता था और इस प्रक्रिया में दो से तीन महीने भी लग जाते थे। उन्होंने बताया की समस्या को दूर करने के लिए उन्होंने खुद केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज और रिटायर्ड जनरल वीके सिंह से आग्रह किया था और सांसद अनुराग ठाकुर ने भी इस मुद्दे को केंद्र में जोरशोर से उठाया था। धूमल ने कहा कि पूर्व भाजपा सरकार ने प्रदेश में प्रशासन जनता के द्वार कार्यक्रम की शुरुआत की थी। उसी जन सुविधा के भाव को ध्यान में रखते हुए केंद्र की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने इस कैंप की शुरूआत हमीरपुर में करवाई है। धूमल ने कहा कि वह केंद्रीय विदेश मंत्रालय से आग्रह करेंगे कि नियमित तौर पर इस तरह के पासपोर्ट बनाने के दो दिन के कैंप लगते रहें। उन्होंने बताया कि आगे से इन कैंपों में लोगों को पासपोर्ट नवीनीकरण की सुविधा भी प्राप्त होगी।

vishal-garments
Facebook Comments

Related posts