‘‘देर आए, दुरूस्त आए’’, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने किस मामले में की यह टिप्पणी ? पढ़े

न्यूजघाट टीम। शिमला
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने जाखू मंदिर में आज पुजारियों के लिए आवासों प बाल प्रमोद वन के लोकार्पण के उपरांत पत्रकारों से वार्तालाप ली। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गऊओं व अन्य आवारा पशुओं के संरक्षण एवं उन्हें आश्रय प्रदान करने के लिए हिमाचल प्रदेश में गौ वंश संवर्धन बोर्ड का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार चरणबद्ध तरीके से पूरे प्रदेश में इस प्रकार के आवारा पशुओं के लिए आश्रय गृह खोलेगी, ताकि उनकी समुचित देखभाल व चारा उपलब्ध हो सके।

vishal-garments

eFashini

        जीएसटी पर बोलते हुए वीरभद्र सिंह ने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर यूपीए सरकार की पहल थी। उस वक्त भाजपा ने इसका विरोध किया था और अब जब रास्ता साफ हो गया है, मैं केवल इतना कहूंगा कि देर आए दुरूस्त आए। उन्होंने कहा कि जीएसटी एक बड़ा सुधार है, जो देश में एक समान बाजार उपलब्ध करवाएगा। शहरी एवं नगर नियोजन विधेयक में हाल ही के संशोधनों के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि अवैध निर्माणों के नियमितिकरण के लिए मानदंड सरकार द्वारा आंकलन के उपरान्त व जनता के सुझावों व अभिवेदनों को ध्यान में रखते हुए आम जनता के लिए तैयार किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में सत्तासीन कांग्रेस के प्रत्येक प्रयास की आलोचना करना भाजपा की आदत है।

  • Email : info@brazatyres.com | brazatyres@gmail.com Office : 8894339123 | Mobile : 9816022546
Facebook Comments

Related posts