ट्रांसपोर्ट मंत्री बाली जी, यहां जेनुरम बसों की संख्या 54 और रूट महज तीन

रूट न होने से लोकल रूटों पर दौड़ाई जा रही जेनुरम बसें
न्यूजघाट टीम। हमीरपुर
जेनुरम बसों की संख्या 54 और जेनुरम रूटों की संख्या महज तीन। चैथा जेनुरम बस का हमीरपुर से जाहू रूट बंद कर दिया गया है। बस रूट पर सवारी न होने से रूट को बंद कर दिया गया है। शेष 51 जेनुरम बसों को लोकल रूटों पर दौड़ाया जा रहा है। हालांकि जेनुरम बसों में सिल्वर कार्ड मान्य होता है, लेकिन जेनुरम बसों के रूट न होने से यात्रियों को इस कार्ड का लाभ महज तीन रूटों पर ही मिल रहा है।

     जेनुरम बस रूट करीब चार माह पहले शुरू किए गए हैं। इनमें एक हमीरपुर से धर्मशाला, दूसरा हमीरपुर से दियोटसिद्ध मैहरे, तीसरा हमीरपुर और ऊना और चैथा हमीरपुर से जाहू रूट शामिल है। तीन रूटों पर जेनुरम बसों को सवारी मिल रही है, लेकिन हमीरपुर से जाहू रूट पर सवारी न होने के कारण बस रूट को बंद कर दिया गया है। बस सुबह साढ़े दस बजे हमीरपुर से रवाना होती थी, जो 12 बजे जाहू पहुंचती थी। जाहू से 12:10 बजे बस रवाना होकर 2:10 बजे हमीरपुर पहुंचती थी। हालांकि जेनुरम बसों के रूटों पर सिल्वर कार्ड मान्य होता है, लेकिन डिपो में जेनुरम बसों के महज तीन रूट होने के कारण यात्रियों को कार्ड का लाभ नहीं मिल पा रहा है। वर्तमान में 54 जेनुरम बसों में से महज तीन बसों को ही जेनुरम रूटों पर दौड़ाया जा रहा है, जबकि शेष 51 बसों लोकल रूटों पर ही दौड़ रही हैं। इन बसों में यात्रियों को महज येलो कार्ड, ग्रीन कार्ड और सिल्वर कार्ड की ही सुविधा मिल रही है। उधर आरएम प्रदीप कुमार शर्मा का कहना है कि हमीरपुर से जाहू जेनुरम बस रूट पर सवारी न होने के कारण इसे बंद किया गया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में तीन जेनुरम रूट बचे हैं। अन्य जेनुरम बसों को लोकल रूटों पर भेजा जा रहा है।

vishal-garments
Facebook Comments

Related posts