कालाअंब के उद्योगपति सरदाना संभालेंगे राष्ट्रीय गत्ता पेटी उत्पादक महासंघ के चेयरमैन पद की कमान

न्यूजघाट टीम। कालाअंब
चंडीगढ़ में नवंबर माह में होने वाले राष्ट्रीय गत्ता पेटी उत्पादक महासंघ के 45 सेमीमार में औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब के नामी उद्योगपति गिरीश सरदाना को राष्ट्रीय गत्ता पेटी उत्पादक महासंघ के अध्यक्ष पद के लिए नामांकित किया गया है। इससे पहले पिछले वर्ष कोच्चि में आयोजित राष्ट्रीय गत्ता पेटी उत्पादक संघ के 44वें सेमीनार में उद्योग सरदाना को महासंघ के उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। मगर इस मर्तबा उन्हें अध्यक्ष पद के लिए नामांकित किया गया है। चंडीगढ़ में यह राष्ट्रीय स्तर का सेमीनार 18 से 20 नवंबर तक आयोजित किया जाएगा। इसी सेमीनार में उद्योगपति सरदाना अध्यक्ष पद का कार्यभार संभालेंगे।

उद्योगपति सरदाना की अगुवाई में पहली बार मेजबानी करेगा हिमाचल
चंडीगढ़ में आयोजित होने वाली तीन दिवसीय राष्ट्रीय गत्ता पेटी उत्पादक महासंघ के सेमीनार की मेजबानी पहली मर्तबा हिमाचल प्रदेश को दी जा रही है। इस सेमीनार में औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब के शिवालिक कंटेनर्स प्राइवेट लिमिटेड के गिरीश कुमार सरदाना को राष्ट्रीय स्तर पर गत्ता पेटी उत्पादक महासंघ के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति को लेकर तैयारिया जोर शोर से चल रही है। गौर हो कि कालाअंब में गत्ता उद्योग चला रहे गिरीश सरदाना के नेतृत्व में राष्ट्रीय स्तर पर पहली बार हिमाचल प्रदेश को मेजबानी करने का अवसर मिला है।

राष्ट्रीय स्तर पर कालाअंब को नई पहचान मिलने के आसार
उद्योगपति गिरिश सरदाना को इस पद पर महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी से कालाअंब को राष्ट्रीय स्तर पर नई पहचान मिलने के आसार भी बने है। वहीं अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मिलने की सूचना के बाद उद्योगपति सरदाना को बधाईयों का सिलसिला भी शुरू हो गया है। सनद रहे कि पिछले वर्ष फैडरेशन की कोच्चि में आयोजित 44वीं कांफ्रेस में कालाअंब के गिरीश सरदाना को उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौपी गई थी, जिससे कालाअंब में गत्ता उत्पादकों की उम्मीदे बढ़ी थी कि कालाअंब के गत्ता उद्योगो को अब राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिलेगी।ं उस वक्त ही उद्योगपति सरदाना ने आश्वासन दिया था कि अगला सेमीनार हिमाचल के हिस्से में होगा। बता दें कि 1972 में गठित इस महासंघ से देश के तकरीबन 1500 गत्ता उद्योग जुड़े हुए हैं, जिनकी देश भर में सैंकड़ों इकाइयां शामिल है।

vishal-garments

बड़ी चुनौती, खरा उतरने के करूंगा प्रयास: सरदाना
इस मामले में उद्योगपति गिरीश कुमार सरदाना ने कहा कि उन्हें जो जिम्मेदारी सौंपी गई है, वह एक बड़ी चुनौती है। इस पद की गरिमा को बनाए रखने के लिए व संघ की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए वह हर संभव प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ समय में गत्ता उद्योग ने ही लकड़ी की पेटियों का विकल्प प्रदान किया है। इससे जंगलों पर बोझ कम हुआ है। यही उद्योग है जो पर्यावरण को संरक्षण प्रदान करने में अहम भूमिका निभा रहा है, परंतु अभी भी लंबी यात्रा पूरी करनी है। गत्ता उद्योगों के विस्तार से क्षेत्र में पैकेजिंग उद्योग को भी बढ़ावा मिलेगा। वहीं दूसरी तरफ फैडेरेशन के सेमीनार की मेजबानी कर रहे हिमाचल के गत्ता उद्योग में खुशी का माहौल बना हुआ है।

Facebook Comments

Related posts