DIWALI-SHOPPING-DHAMAKA.jpg

सरकार कला एवं संस्कृति के प्रोत्साहन के लिए प्रतिबद्ध-मुख्यमंत्री

कला एवं संस्कृति
मुख्यमंत्री ने सम्मान समारोह में लेखकों व कलाकारों को किया सम्मानित
न्यूज़घाट टीम।
शिमला । मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य की कला एवं संस्कृति के प्रोत्साहन के लिए कृतसंकल्प है, और कलाकारों एवं लेखकों को प्रोत्साहित करने तथा उन्हें सुविधाएं प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।
मुख्यमंत्री आज यहां हिमाचल कला, संस्कृति एवं भाषा अकादमी द्वारा लेखकों, कलाकारों तथा पहाड़ी चित्रकला और चम्बा रूमाल प्रतियोगिताओं के विजेताओं को सम्मानित करने के लिए आयोजित सम्मान समारोह की अध्यक्षता कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल कला, संस्कृति व भाषा अकादमी विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से राज्य की कला व संस्कृति को बढ़ावा देने का सराहनीय कार्य कर रही है।
श्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि लेखकों तथा कलाकारों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से अकादमी लोक संस्कृति तथा जनजातीय क्षेत्रों के इतिहास पर आधारित सेमिनारों सहित विभिन्न गतिविधियां आयोजित करने के अतिरिक्त, राज्य की कला एवं संस्कृति के प्रोत्साहन के लिए कार्यशालाएं आयोजित कर रही है। अकादमी लोक कला एवं संस्कृति पर आधारित पुस्तकों का प्रकाशन भी कर रही है, और हिमाचली लेखकों की पुस्तकें खरीदने का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि लेखकों को प्रोत्साहित करने के लिए नियमित रूप से विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि सरकार उन लेखकों को, जिनके पास पर्याप्त संसाधन नहीं है, को प्रतिमाह एक हजार रुपये पेंशन प्रदान कर रही है। सरकार ने कलाकारों और लेखकों की पुरस्कार राशि को 31,000 रुपये से बढ़ाकर 51,000 रुपये, जबकि शिखर सम्मान 51,000 रुपये से बढ़ाकर एक लाख रुपये किया है।
मुख्यमंत्री ने विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता लेखकों व कलाकारों को पुरस्कार वितरित किये। हिन्दी साहित्य के लिए सुरेश सेन निशांत, मुरारी शर्मा तथा डाॅ. ओम प्रकाश शर्मा को पुरस्कृत किया गया, जबकि अंग्रेजी साहित्य का पुरस्कार निधि चावला ने हासिल किया और पहाड़ी साहित्य के लिए डाॅ. प्रिया शर्मा को पुरस्कृत किया गया।
कला श्रेणी में मुख्यमंत्री ने प्रो. एन.सी. सक्सेना, ओम प्रकाश सुजानपुरी, श्री प्रेम प्रकाश निहाल्टा तथा बसंती देवी को पुरस्कार प्रदान किए। उन्होंने हिमाचल सांस्कृतिक शोध संस्थान और नाट्य रंगमंडल मंडी स्वयं सेवी संस्था को राज्य में कला एवं संस्कृति के प्रोत्साहन की दिशा में किये गये प्रयासों के लिए सम्मानित किया।
पहाड़ी चित्रकला प्रतियोगिता की श्रेणी में अंशु मोहन शर्मा, कमलजीत और मनु कुमार को पुरस्कार प्रदान किये गये, जबकि चम्बा रूमाल प्रतियोगिता में दिनेश कुमारी, इंदू शर्मा व कमला चड्ढा विजयी रहीं।
इससे पूर्व, अकादमी के उपाध्यक्ष डा. प्रेम शर्मा ने राज्य में साहित्यिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए अकादमी को उदार वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कलाकारों तथा लेखकों के लिए पुरस्कार की राशि तथा प्रोत्साहनों में बढ़ोतरी के लिए भी मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया।
भाषा एवं संस्कृति विभाग की निदेशक श्रीमती शशि ठाकुर और अकादमी के सचिव श्री अशोक हंस ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखें।

 

vishal-garments
Facebook Comments

Related posts