पांवटा में युवती के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए एनएच किया जाम

एसपी सिरमौर सौम्या ।
गुस्साए ग्रामीणों ने शव सड़क पर रख कर किया गुस्से का इज़हार

पांवटा साहिब। उपमंडल पांवटा साहिब के बाईला के जंगल में सतौन क्षेत्र के एक युवती की हुई हत्या के मामले में सैकडों गुस्साऐ ग्रामीणों ने मृतका का शव सड़क पर रख कर डेढ घंटे तक चक्का जाम किया व जोरदार नारेबाजी की।  इससे पूर्व सोमवार को युवती का शव फॉरेंसिक जांच के लिए शिमला भेजा गया था। रात को शव शिमला से वापिस लाया गया। जैसे ही क्षेत्र में युवती की हत्या के मामले में खबर फैली क्षेत्र के सैकडों महिलाएं व अन्य ग्रामीण मंगलवर सुबह गाडीयों में भर कर पांवटा पुलिस थाने पहुंचे। महिलाओं सहित करीब 1500 ग्रामीणों ने डैड हॉऊस से शव को उठा कर बाजार से होते हुए बाईपास के पास एनएच सड़क को जाम कर दिया। गुस्साये ग्रामीणों की मांग है कि इस हत्या में शामिल आरोपियों के खिलाफ कडी कारवाई की जाए। उनका कहना है कि पुलिस ने अभी तक एक ही आरोपी को गिरफ्तार किया है। जबकि इस वारदात में और आरोपी भी शामिल है। पुलिस राजनीति के दबाव में आ कर अन्य आरोपियों को बचा रही है। चक्का जाम के  दौरान पांवटा के एसडीएम एचएस राणा, डीएसपी भीष्म ठाकुर, थाना प्रभारी अशोक चौहान पुलिस दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। चक्का जाम में बैठे ग्रामीणों से बातचीत की। लेकिन ग्रामीण नही माने। आखिरकार एसपी सिरमौर सौ या 11 बजे मौके पर पहुंची। ग्रामीणों को आश्वासन दिया की इस मामले में बिल्कुल भी लापरवाही नही बरती जाएगी। पुलिस कडी कारवाई कर रही है। अगर इस वारदात में और लोग भी शामिल होगे तो उनको शीघ्र ही गिरफतार कर सलाखों के पीछे भेजे जाएंगे। उसके बाद ग्रामीणों ने सड़क से हट कर शव का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान महिलाओं ने कुछ देर पुलिस थाना का घेराव भी किया।

चक्काजाम में पहुंचे हर्ष वर्धन-बलदेव : जैसे ही ग्रामीणों ने एनएच को जाम किया तो उसकी खबर सुनते ही शिलाई के विधायक बलदेव तोमर व अध्यक्ष रोजगार सृजन समीति एवं पूर्व विधायक हर्षवर्धन चौहान भी घटना स्थल पर पहुंच गऐ। गुस्साऐं ग्रामीणों को समझाने लगे। विधायक बलदेव तोमर हर्षवधन चौहान ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए सरकार से मांग की है कि इस हत्या के मामले में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। वारदात में शामिल आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाये।

गुस्साऐ ग्रामीणों ने सीपीएस के खिलाफ की नारेबाजी : गुस्साऐ ग्रामीणों ने सीपीएस विनय कुमार के खिलाफ नारेबाजी की। ग्रामीणों का कहना है कि सीपीएस इस मामले में पुलिस पर आरोपियों को बचाने का दबाव डाल रहे है। जिसको लेकर ग्रामीणों ने सीपीएस के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। एसपी सिरमौर से मांग की है कि इस हत्या के मामले में पुलिस निष्पक्ष जांच करे। अगर पुलिस राजनीतिक दबाव में आ कर आरोपीयों को बचाने का प्रयास किया गया तो ग्रामीण फिर से सड़को में उतर कर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

vishal-garments

जूनपांवटा7-1 पांवटा में सड़क जाम करते ग्रामीणों से बात करते डीएसपी भीष्म ठाकुर व अन्य।

एसपी सिरमौर सौम्या
पुलिस थाना के घेराव करती महिलाओं से बात करतीं एसपी सिरमौर सौम्या ।
पांवटा में सड़क जाम
पांवटा में सड़क जाम करते ग्रामीणों से बात करते डीएसपी भीष्म ठाकुर व अन्य।

 

Facebook Comments

Related posts