अंधविश्वास के खिलाफ मुहीम है जादू का शौ

जादूगर अजूबा
पांवटा के हैरिटेज़ हॉल में चलेगा जादू का शौ

पांवटा साहिब। उपमंडल में जादू का शो दिखाने आये जादूगर सम्राट अजूबा ने पत्रकार वार्ता के दौरान कहा की जादू कला विश्व के प्राचीन भारत के मनीषियों की देन है। वर्तमान में ये कला उपेक्षित है केवल कुछ गिने चुने जादूगरों के कारण ही जादू जैसी महान कला जीवित बची हुई है।

vishal-garments
जादूगर अजूबा
पांवटा में पत्रकार वार्ता के दौरान जादू के करतब दिखाते जादूगर अजूबा।

उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए की जादूकला को राष्ट्रीय कला घोषित किया जाए ताकि इस कला को बढ़ावा मिले। उन्होंने कहा की उन्होनें अपना सारा जीवन इस कला को समर्पित कर दिया है। उन्होंने कहा की हिमाचल में आना उन्हें अच्छा लगता है। उन्होंने बताया विश्व रंगमंच पर व 15000 से भी ज्यादा हाउसफुल शो कर चुका है। जादूगर सम्राट अजूबा ने बताया की वो जादू कला के दुरोपयोग के स त खिलाफ  है। जो लोग इस कला का दुरूपयोग कर के भोले-भाले लोगो का शोषण करते है। उन ढोंगियो की पोल खुलनी चाहिए। लोगो को ये समझना चाहिए की तंत्र मंत्र कुछ नहीं होता कोई चमत्कार नहीं होता वो सिर्फ  जादू है। अपने जादू के शो के दौरान अपने साथ 40 लोगों की टीम लाये हैं। जादू के शो के दौरान शो में से किसी लड़की को बुला कर उसे हवा में उडऩा, अंडर वाटर एस्केप, इन्दरजाल का रहस्मयी बक्सा आदि जादू दिखाए जाएंगे।

Facebook Comments

Related posts