ऑनलाइन दाखिले में आ रही परेशानी, ABVP ने ऊना कॉलेज के प्राचार्य कक्ष में किया हंगामा

आरके शर्मा। ऊना
पीजी कॉलेज ऊना में नए सत्र के लिए शुरू हुए ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया पर विद्यार्थियों को समस्या पेश आ रही है। जिसके लिए वीरवार को एबीवीपी के कार्यकत्ताओं ने कॉलेज प्राचार्य का घेराव किया। कार्यकत्ताओं ने संगठन मंत्री अरुण वर्मा के नेतृत्व में कॉलेज प्राचार्य के कक्ष में जमकर हंगामा किया। एबीवीपी संघ का कहना है कि जब से ऑनलाइन सिस्टम शुरू हुआ है, तब से विद्यार्थियों को दाखिले में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कॉलेज में विद्यार्थियों के मार्गदर्शन के लिए कोई व्यवस्था नही की गई है और न ही कोई काउंटर मौजूद है। विद्यार्थी साईबर कैफे में जाकर अपने पैसे व समय की बर्बादी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आज के समय में बहुत से ऐसे भी विद्यार्थी है, जिनके पास फोन नही है। ऐसे में विद्यार्थियों को दाखिले में परेशानी हो रही है। दाखिले के लिए विद्यार्थियों को अपने तामाम प्रमाण पत्रों को स्कैन करवाना पड़ रहा है। जिसके चलते साईबर कैफे मालिक चांदी कूट रहे हैं और विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों पर आर्थिक बोझ पड़ रहा है। इतना ही नही वैबसाईट भी हांफ गई है। फीस जमा करवाने के लिए विद्यार्थियोंं को बैंको के लिए चक्कर काटने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। कॉलेज में ही कैश काउंटर की व्यवस्था होनी चाहिए, ताकि किसी प्रकार की परेशानी न आए। इसके अलावा विद्यार्थी परिषद ने विद्यार्थियों को पेश आ रही सभी समस्याओं से अवगत करवाया। वहीं कॉलेज प्राचार्य ने एबीवीपी के कार्यकर्ताओं को सपष्ट किया है कि आनलाईन दाखिला प्रक्रिया डिजिटल इंडिया के तहत प्रक्रिया है। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा भी परीक्षाओं के फार्म ऑनलाईन भरवाए जाते हैं। ऐसे में विद्यार्थियों को ऑनलाईन दाखिले के माध्यम से भी इसके बारे में प्रशिक्षण मिल रहा है। ताकि भविष्य में इस तरह की परेशानी पेश न आए।

उनका कहना है कि विद्यार्थियों को प्रथम वर्ष में दाखिला लेने के लिए कॉलेज में आने की आवश्यकता नही है। इसके लिए वह घर बैठे ही अपना आवेदन दाखिल कर सकते हैं। यहां तक की फीस भी आनलाईन ही जमा होगी। जिससे उनके पैसे व समय की बर्बादी होने से बचेगी। अगर किसी भी विद्यार्थी को किसी तरह की परेशानी आती है तो वह कॉलेज स्टाफ की मदद ले सकता है। कॉलेज में सहायता डैस्क लगाया गया है।

- VISHAL GARMENTS -

Leave A Reply

Your email address will not be published.