चॉकलेट इंडस्ट्री ने बारिश की आड़ में छोड़ा पानी

गुस्साए ग्रामीणों ने मौके पर बुलाई प्रदूषण विभाग की टीम

न्यूज़घाट टीम । बद्दी

hids

नामी चॉकलेट निर्माता कंपनी कैडवरी द्वारा संडोली स्थित यूनिट से बारिश की आड़ में गंदा व बदबूदार पानी छोडऩे का मामला सामने आया है। बारिश की आड़ में पानी छोडऩे के बाद जहां निकासी नालियों व सडक़ पर झाग फैल गई वहीं बदबू से ग्रामीण तिलमिला उठे। पानी की निकासी की नालियों के बिल्कुल साथ संडोली शिव मंदिर व आंगनवाड़ी मौजूद है वहीं ग्रामीणों के घर भी आसपास ही हैं।

झाग व बदबू के कारण गुस्साए ग्रामीण बारिश के बीच ही घरों से निकले और मौके पर प्रदूषण विभाग की टीम बुलाई गई। ग्रामीणों चरणदास नंबरदार, भाग सिंह, हरमिंद्र सिंह, राजेंद्र सिंह, अनिल, रोहित, केवल, भजन सिंह, समाजसेवी धर्मपाल चौधरी, रमेश कुमार, विनोद कुमार, शिव मंदिर के पुजारी हजारा सिंह ने बताया कि शनिवार सुबह करीबन 12 बजे तेज बारिश की आड़ में संडोली स्थित कैडवरी उद्योग ने पानी छोड़ा। जिसके बाद पानी सडक़ों व पानी की निकासी की नालियों में फैल गया और सडक़ व नाली में झाग ही झाग हो गई।

 कैडवरी उद्योग द्वारा बारिश की आड़ में पानी छोडऩे के बाद सडक़ पर फैला पानी व नालियों में बनी झाग।
कैडवरी उद्योग द्वारा बारिश की आड़ में पानी छोडऩे के बाद सडक़ पर फैला पानी व नालियों में बनी झाग।

पानी से तेज बदबू आ रही थी जो मंदिर, आंगनवाड़ी स्कूल व आसपास के घरों तक पहुंच रही थी। ग्रामीणों ने बताया कि जैसे ही बरसात का मौसम शुरू होता है कैवडरी समेत अन्य उद्योग बारिश की आड़ में पानी छोड़ते हैं। ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि उक्त उद्योग रात के अंधेरे में 12 बजे के बाद भी कई बार पानी छोड़ता है। ग्रामीणों ने बताया कि पानी छोडऩे के बाद बदबूदार गंदा पानी सडक़ों व नालियों में ओवर लो हो गया और झाग के गुब्बार बन गए। जिसके बाद ग्रामीणो ने प्रदूषण विभाग के अधिकारियेां से शिकायत की और टीम मौके पर पहुंची।

hids

ग्रामीणों की सूचना के बाद टीम मौके पर भेजी गई थी। जांच में सामने आया है कि डे्रन का लेवल लो था और बारिश के बाद डे्रन ओवर लो हो गई, जिस कारण यह समस्या पेश आई। विभाग ने उद्योग को दो दिन में डे्रन को दुरूस्त करने के आदेश जारी किए हैं। जहां तक रात को पानी छोडऩे की बात है तो विभागीय टीम इसकी भी जांच करेगी। कई उद्योग जो नियमों को ताक पर रखकर प्रदूषण फैला रहे हैं वह विभाग के रेडार पर हैं।
अविनाश शारदा, एक्सईएन, प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड बद्दी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.