- Advertisement -

देवी नगर हैवी व्हिकल्स के जाम से नहीं मिली निज़ात

स्कूलों के बच्चे झेल रहे हर रोज़ मुसिबत, दो माह बाद भी अधूरी रिपोर्ट

577

 

न्यूज़ घाट/पांवटा साहिब

पांवटा साहिब के विश्वकर्मा चौंक से लेकर देवीनगर में हररोज स्कूली बच्चे व स्थानीय लोग जाम का दंश झेलने को मजबूर है। देवी नगर में सैंकड़ों हैवी व्हीकल गुजर रहें हैं जिनकी जद में हमेशा स्कूली बच्चे और यहां से गुजरने वाले लोगों के आने का अंदेशा बना रहता है।

स्थानीय नागरिकों को हर रोज 11 से 2 बजे तक देवी नगर में लगने वाले जाम से जूझना पड़ता है।  जाम का मुख्य कारण है यहां से गुजरने वाले सैकड़ों हैवी व्हीकल्स। गौर हो कि यहाँ सड़क की चौड़ाई महज पांच से साढ़े पांच मीटर के बीच है जिसके कारण एक साथ जब हैवी व्हिकल्स गुजरते हैं तो पैदल चलने की जगह नहीं बचती ऐसे में 11 और 2 बजे के बीच जब स्कूलों की छुट्टियें होती है तो सैकड़ों बच्चे भी गुजरते हैं जिनकी जान हमेशा खतरे में बनी रहती हैं प्रशासन भी यहाँ किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहा है।

इस बड़ी समस्या से आधा दर्जन से अधिक स्कूल व तक़रीबन दस हजार के करीब यहाँ रहने वाले स्थानीय लोग पीड़ित है। स्थानीय दर्जनों लोगों ने प्रशासन से कई बार इसकी शिकायत की है व मांग कि है की यहां से गुजरने वाले भारी वाहनो को रात दस बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक चलाने की इजाजत दी जाए लेकिन बावजूद इसके अभी तक स्थानीय प्रशासन इसमें कोई कार्यवाही नहीं कर पाया है

वहीं पीडब्ल्यूडी अधिशासी अभियंता ने बताया कि इस सड़क की चौड़ाई साढ़े पांच मीटर है कई जगहों पर घटकर पांच मीटर भी रह जाती हैं ऐसे में भारी वाहनों का यहाँ से गुजरना काफी गंभीर हो सकता है।

VIP आगमन के रोज़ नजर नही आते हैवीव्हिकल

वहीं जब कभी भी पाउडर साहिब है वीआईपी लोगों का आगमन होता है इस दौरान इस सड़क पर एक भीड़ ट्रक नज़र नहीं आता जिसका सीधा सीधा अभिप्राय है शासन तो सड़क पर रहा दस बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक समय सारणी बंद हो सकता है लिखी बात आमजन से जुड़ी है इसलिए प्रशासन भी गंभीरता से इस विषय को नहीं लेता।

क्या बोले एसडीएम
इस विषय पर जब एसडीएम पांवटा से बात की गयी उन्होंने बताया कि समय सारणी को चेंज करने के लिए पीडब्ल्यूडी, डीएसपी पांवटा, तहसीलदार व आरटीओ की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। जैसे ही रिपोर्ट आती है उपायुक्त को भेजा जाएगा।

Inside Post In Last

Leave A Reply

Your email address will not be published.